Sunday , 25 July 2021

कोरोना की तीसरी लहर का डर, इसलिए नहीं चल रही मुंबई लोकल

मुंबई (Mumbai) , . कोरोना संक्रमण में कमी आने के बावजूद मुंबई (Mumbai) की लोकल ट्रेने आम यात्रियों (Passengers) के लिए चालू किए जाने के निर्णय में देरी हो रही है. महाराष्ट्र (Maharashtra) सरकार ने पांच चरणों में राज्य के इलाकों को विभाजित किया हुआ है. जिसके तहत पहले चरण में आने वाले जिलों, शहरों और पालिकाओं में सभी तरह की छूट दिए जाने की बात है. पॉजिटिविटी रेट पांच प्रतिशत से कम होने और ऑक्सीजन बेड भी 25 प्रतिशत से कम भरे होने की शर्तों को पूरा करते हुए फिलहाल मुंबई (Mumbai) पहले चरण में है.

इसके बावजूद मनपा ने मुंबई (Mumbai) में तीसरे चरण के नियमों और प्रतिबंधों को कायम रखा है. आम यात्रियों (Passengers) के लिए मुंबई (Mumbai) लोकल शुरू करने में रुकावटें क्या हैं? मनपा द्वारा अतिरिक्त सावधानी रखे जाने की वजहें क्या हैं? मुंबई (Mumbai) की महापौर किशोरी पेडणेकर ने रविवार (Sunday) को इसका जवाब दिया. पत्रकारों से बात करते हुए महापौर किशोरी पेडणेकर ने कहा कि मुंबई (Mumbai) में कोरोना के मरीजों की संख्या में कमी आने के बाद आम यात्रियों (Passengers) के लिए लोकल शुरू करने पर विचार करना ही पड़ेगा. लेकिन लोगों की जान जोखिम में डालने वाला कोई भी निर्णय महापालिका और राज्य सरकार (State government) नहीं लेने वाली है. महापौर ने कहा कि आज भी मुंबई (Mumbai) में 500-600 नए केस सामने आ रहे हैं. कोरोना मरीजों की संख्या में और कमी होना जरूरी है.

धारावी में पिछले कुछ दिनों से एक भी नया केस सामने नहीं आ रहा है. वरली में कल सिर्फ एक नया केस सामने आया. इससे पता चलता है कि मुंबई (Mumbai) में संक्रमण तेजी से कम हो रहा है. लेकिन अभी और कमी होने की जरूरत है. मुंबई (Mumbai) और महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना की तीसरी लहर का डर जताते हुए महापौर किशोरी पेडणेकर ने कहा कि तीसरी लहर आई तो वो भयंकर होगी. कोरोना (Corona virus) का स्वरूप लगातार बदल रहा है. इसलिए सबको अपने परिवार का ध्यान रखना होगा. अगर नागरिकों ने कोरोना से जुड़े नियमों का सही तरह से पालन किया तो जिस तरह से हमने दूसरी लहर पर जीत हासिल की, उसी तरह तीसरी लहर आई तो उस पर भी हम जल्द कंट्रोल हासिल कर लेंगे.

Please share this news