Wednesday , 28 July 2021

2020-21 के दौरान कृषि निर्यात में शानदार वृद्धि, जैविक निर्यात ने 50.94 प्रतिशत की बढोतरी दर्ज

नई दिल्ली (New Delhi) . भारत सरकार के वाणिज्य विभाग के सचिव डॉ.अनूप वधावन ने कहा कि 2020-21 के दौरान कृषि निर्यात ने शानदार प्रदर्शन किया है. मीडिया (Media) के साथ बातचीत करते हुए, उन्होंने जानकारी दी कि पिछले तीन वर्षों (2017-18 में 38.43 बिलियन डॉलर (Dollar), 2018-19 में 38.74 बिलियन डॉलर (Dollar) तथा 2019-20 में 35.16 बिलियन डॉलर (Dollar)) तक स्थिर बने रहने के बाद 2020-21 के दौरान कृषि एवं संबद्ध उत्पादों (समुद्री तथा बागान उत्पादों सहित) का निर्यात तेजी से बढ़कर 41.25 बिलियन डॉलर (Dollar) तक पहुंचा जो 17.34 प्रतिशत की बढोतरी को इंगित करता है.

रुपये के लिहाज से यह वृद्धि 22.62 प्रतिशत है जो 2019-20 के 2.49 लाख करोड़ रुपये की तुलना में बढ़कर 2020-21 के दौरान 3.05 लाख करोड़ रुपये तक जा पहुंचा. 2019-20 के इौरान भारत का कृषि और संबद्ध आयात 20.64 बिलियन डॉलर (Dollar) था और 2020-21 के तदनुरुपी आंकड़ें 20.67 बिलियन डॉलर (Dollar) के हैं. कोविड-19 (Covid-19) के बावजूद, कृषि में व्यापार संतुलन में 42.16 प्रतिशत का सुधार आया है जो 14.51 बिलियन डॉलर (Dollar) से बढ़कर 20.58 बिलियन डॉलर (Dollar) हो गया.

कृषि उत्पादों (समुद्री तथा बागान उत्पादों को छोड़कर) के लिए वृद्धि 28.36 प्रतिशत है जो 2019-20 के 23.23 बिलियन डॉलर (Dollar) से बढ़कर 2020-21 के दौरान 29.81 प्रतिशत तक जा पहंचा. भारत कोविड-19 (Covid-19) अवधि के दौरान स्टेपल के लिए बढ़ी हुई मांग का लाभ उठाने में सक्षम रहा है. अनाजों के निर्यात में भारी वृद्धि देखी गई है जिसमें गैर-बासमती चावल का निर्यात 136.04 प्रतिशत बढ़कर 4794.54 मिलियन डॉलर (Dollar) का रहा, गेहूं का निर्यात 774.17 प्रतिशत बढ़कर 549.16 मिलियन डॉलर (Dollar) का रहा, तथा अन्य अनाजों (मिलेट, मक्का तथा अन्य मोटे अनाज) का निर्यात 238.28 प्रतिशत बढ़कर 694.14 मिलियन डॉलर (Dollar) का रहा.

अन्य कृषि संबंधी उत्पादों, जिनके निर्यात में 2019-20 के दौरान उल्लेखनीय बढोतरी दर्ज कराई गई, में आयल मील (1575.34 मिलियन डॉलर (Dollar)-90.28 प्रतिशत की बढोतरी), चीनी (2789.97 मिलियन डॉलर (Dollar)-41.88 प्रतिशत की बढोतरी), कच्चा कपास (1897.20 मिलियन डॉलर (Dollar)-79.43 प्रतिशत की बढोतरी), ताजी सब्जियां (721.47 मिलियन डॉलर (Dollar)-10.71 प्रतिशत की बढोतरी) और वेजीटेबल आयल (602.77 मिलियन डॉलर (Dollar)-254.39 प्रतिशत की बढोतरी) शामिल हैं.

भारत के कृषि उत्पादों के सबसे बड़े बाजारों में अमेरिका, चीन, बांग्लादेश, यूएई, वियतनाम, सऊदी अरब, इंडोनेशिया, नेपाल, ईरान और मलेशिया शामिल हैं. इनमें से अधिकांश गंतव्यों ने वृद्धि प्रदर्शित की है जिसमें सर्वाधिक वृद्धि इंडोनेशिया (102.42 प्रतिशत), बाग्ला देश (95.93 प्रतिशत) और नेपाल (50.49 प्रतिशत) में दर्ज की गई.

Please share this news