Sunday , 11 April 2021

तापसी और अनुराग से देर रात तक IT की पूछताछ

आज भी जारी रहेगा सर्च ऑपरेशन

मुंबई (Mumbai) . महाराष्ट्र (Maharashtra) में आयकर विभाग की फिल्म डायरेक्टर अनुराग कश्यप और अभिनेत्री तापसी पन्नू के साथ कई घंटे की पूछताछ खत्म हो गई है. हालांकि विभाग की ओर से सर्च अभियान पूरी रात चलेगा. आयकर विभाग ने टैक्स चोरी के मामले में इन सितारों के घर पर छापेमारी की थी.

anurag-taapsee

दोनों बॉलीवुड (Bollywood) सितारों से आयकर विभाग की पूछताछ रात करीब 11 बजे तक चली. आज बुधवार (Wednesday) की पूछताछ खत्म हो गई है. आयकर विभाग की तलाशी कल गुरुवार (Thursday) को भी इन सितारों के घर जारी रहेगी. साथ ही विभाग ने चार कंपनियों फैंटम फिल्म, क्वान, एक्सीड, रिलायंस एंटरटेनमेंट के यहां भी छापे डाले.

तापसी और अनुराग कश्यप के अलावा मधु मनटेना, विकास बहल और कई अन्य के यहां भी कार्रवाई जारी रहेगी और गुरुवार (Thursday) को भी तलाशी ली जाएगी. कुछ परिसरों में अभी भी खोज चल रही है. मधु मनटेना, विकास बहल के यहां गुरुवार (Thursday) को भी तलाशी ली जाएगी.

सूत्रों के अनुसार, विभाग की ओर से अनुराग कश्यप के एक ऑफिस समेत कई स्थानों पर सर्च ऑपरेशन अभी भी जारी है. सूत्र का कहना है कि हमें हमारी जांच पूरा करने में करीब 3 दिन लग सकते हैं क्योंकि हम बेहद सावधानी के साथ अपनी प्रक्रिया को पूरी करते हैं.

सूत्रों के अनुसार, अधिकारी हर डिजिटल साक्ष्य का बैक अप रख रहे हैं जो उन्हें खोजों के दौरान मिला और इस कारण इसमें समय लगने वाला है. आयकर विभाग के अधिकारियों के पास पहले से मौजूद सबूतों के आधार पर व्यक्तियों से पूछताछ चल रही है.

आईटी विभाग का दावा है कि सर्च ऑपरेशन के दौरान उन्हें कई अहम सुराग और चीजें मिली हैं. सर्च ऑपरेशन पूरी रात जारी रहने की संभावना है.

जानकारी के मुताबिक, इससे पहले मुंबई (Mumbai) और पुणे (Pune) में करीब 20 से 22 स्थानों पर आयकर विभाग की टीम द्वारा तलाशी ली गई, जिसमें अनुराग कश्यप, तापसी पन्नू, विकास बहल, मधु मनटेना और कई अन्य के अलावा फैंटम फिल्म्स तथा तीन अन्य संस्थाओं के ऑफिस शामिल हैं.

किसान मोर्चा और कांग्रेस ने की निंदा

अनुराग कश्यप, मधु मनटेना, विक्रमादित्य मोटवाने और विकास बहल ने मिलकर 2011 में फैंटम फिल्म्स की स्थापना की थी. हालांकि, अक्टूबर 2018 में यह कंपनी बंद हो गई. सूत्रों का कहना है कि कपंनी और इनकी ओर से दायर रिटर्न मेल नहीं खाते हैं. यह सीधे तौर पर टैक्स चोरी का संकेत है.

इस मामले में पहले आयकर विभाग की ओर से पड़ताल की गई फिर सर्च वारंट हासिल किया गया. केवल एक बार मूल्यांकन पूरा हो जाने के बाद टैक्स की कुल राशि स्पष्ट हो जाएगी.

हालांकि आयकर विभाग की कार्रवाई पर कांग्रेस और संयुक्त किसान मोर्चा समेत कई संगठनों ने केंद्र सरकार (Central Government)की निंदा की है. मोर्चा की ओर से कहा गया है कि हम समझते हैं कि ये छापे किसानों का समर्थन करने पर सरकार की बौखलाहट को दर्शाते हैं. तो वहीं पूर्व सीएम और राज्य सरकार (State government) में कैबिनेट मंत्री अशोक चव्हाण ने आयकर विभाग की छापेमारी को मोदी सरकार की बदले की भावना की कार्रवाई करार दिया.


News 2021

Please share this news