Wednesday , 16 June 2021

वर्ल्ड एयर क्वालिटी की रिपोर्ट में दुनिया के 10 सबसे प्रदूषित शहरों में से 8 शहर भारत के हैं: सौरभ भारद्वाज

नई दिल्ली (New Delhi) . आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने वर्ल्ड एयर क्वालिटी रिपोर्ट-2020 पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि दिल्ली, जो दुनिया की सबसे प्रदूषित शहर होती थी, आज 10वें नंबर पर है, इसके लिए दिल्ली वालों को बधाई. दिल्ली सरकार ने दिल्ली वालों के साथ मिलकर प्रदूषण को काफी नियंत्रित किया. हमने पिछले 5 सालों में 24 घंटे बिजली देने, थर्मल पाॅवर प्लांट बंद करने, बाॅयो डी-कंपोजर और ईवी पाॅलिसी समेत कई कदम उठाए, जिससे प्रदूषण कम हुआ है.

उन्होंने कहा कि दुनिया की 30 सबसे प्रदूषित शहरों में भारत के 22 शहर शामिल हैं, इसके लिए केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर सीधे तौर पर जिम्मेदार हैं. केंद्रीय पर्यावरण मंत्री ने पिछले सालों में प्रदूषण घटाने के लिए एक भी ठोस काम नहीं किया, उनको तुरंत पद से हटाना चाहिए. सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) के आदेश के बावजूद थर्मल पावर प्लांट बंद नहीं हुए, केंद्रीय पर्यावरण मंत्री का कोयला लॉबी के साथ क्या सांठगांठ है? आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता एवं विधायक सौरभ भारद्वाज ने आज पार्टी मुख्यालय में प्रदूषण के मुद्दे पर प्रेस कांफ्रेंस की.

उन्होंने कहा कि मैं समझता हूं कि दिल्ली वालों के लिए एक बहुत बड़ा दिन है और बड़े गर्व की बात है कि दिल्ली वासियों ने अपनी आदतों में बदलाव कर और अपनी कोशिशों से दिल्ली सरकार के साथ कदम से कदम मिलाकर दर्जनों अभियानों में हिस्सा लेकर आज एक बात साबित की है कि अगर किसी राज्य के अंदर वहां के नागरिक यह चाहें कि कोई काम करना है, तो प्रदूषण जैसी बहुत बड़ी समस्या, जिस पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) कई बार चिंता व्यक्त कर चुका है, अन्य कई संस्थाएं भी चिंता व्यक्त करती रहती हैं, उस पर भी हम लोग नियंत्रण पा सकते हैं. मेरी तरफ से और आम आदमी पार्टी की तरफ से दिल्ली के दो करोड़ निवासियों और दिल्ली सरकार को बहुत-बहुत बधाई.

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि कल कई अखबारों में छपा था कि वर्ल्ड एयर क्वालिटी रिपोर्ट- 2020 आई है, जो अंतरराष्ट्रीय तौर पर माना जाता है कि यह संस्था स्वायत्त तौर पर सभी देशों के बड़े-बड़े राज्यों का आंकलन करती है कि कहां पर कितना प्रदूषण है? आपको याद होगा कि भाजपा के हमारे मित्र बिना सोचे कि इससे देश की कितनी बदनामी होगी और दिल्ली की कितनी बदनामी होगी? पिछले 5 साल से अभियान चला रहे थे कि अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली को प्रदूषित कर दिया, जबकि दिल्ली पहले से प्रदूषित थी.

भाजपा के लोगों ने प्रचारित किया कि दिल्ली पूरी दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर है. ऐसा लगता था कि उनका कोई राजनीतिक फायदा है. राजनीतिक तौर पर हर साल इस अभियान को भाजपा के लोग चलाते थे. खासतौर पर सर्दियों में अभियान चलाते थे. अब वर्ल्ड एयर क्वालिटी की जो रिपोर्ट आई है, इसको देखें, तो इसमें पहले 10 सबसे प्रदूषित शहरों के नाम आए हैं और उस 10 में से 8 शहर भारत के हैं. उन 8 में से भी ज्यादा शहर उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) और हरियाणा (Haryana) के हैं, मात्र एक शहर राजस्थान (Rajasthan)का है. उत्तर प्रदेश, जहां सबसे बड़ी देशभक्त भाजपा की सरकार चल रही है और हरियाणा (Haryana) जहां उससे भी बड़ी देशभक्त भाजपा की सरकार चल रही है, जिनके मुख्यमंत्री (Chief Minister) 18-18 घंटे काम कर रहे हैं.

Please share this news