Sunday , 25 July 2021

दो वर्ष पूर्व हुई ग्रामीण की हत्या के मामले में दंपत्ति को पुलिस ने किया गिरफ्तार

कोरबा . दो वर्ष पूर्व सन 2019 में बांगो थाना इलाके में घटित हुई एक हत्या (Murder) कांड के आरोप में एक दंपत्ति को गिरफ्तार करने में पुलिस (Police) ने बड़ी सफलता हासिल की है दम्पत्ति आरोपी सीएसईबी चौकी अंतर्गत कोहडिय़ा के एक घर मे छिपे हुए थे. सूचना पाकर पुलिस (Police) की टीम ने मौके पर दबिश दी और उन्हें हिरासत में ले लिया पूछताछ में उन्होंने हत्या (Murder) के आरोपो को कबूल लिया है बांगो पुलिस (Police) ने आरोपी पति-पत्नी के विरुद्ध भादवि 302, 201, 34 के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है पूरे मामले का खुलासा एसडीओपी रामगोपाल करियारे ने कटघोरा में मीडिया (Media) के सामने किया है.

इस बारे में करियारे ने बताया हैं कि 25 अक्टूबर 2019 में बांगो थाना के एतमनागर घाट रोड के रहने वाले परदेशी यादव पर डंडे और लाठी से हमला करते हुए उसे गम्भीर रूप से घायल कर दिया गया था जिसने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया था रिपोर्ट पर मौके पर पहुंची डायल 112 व बांगो पुलिस (Police) को मृतक परदेसी यादव की पत्नी ने बताया कि उसके पति की हत्या (Murder) पड़ोस के ही रहने वाले पति पत्नी ने मिलकर की है इस जानकारी के बाद पुलिस (Police) उन आरोपियों तक पहुंच पाती इससे पहले ही दोनों फरार हो चुके थे बांगो थाने में दोनों के विरुद्ध अपराध कायम कर उनकी खोजबीन शुरू कर दी गई थी.

मृतक परदेशी की पत्नी ने बताया कि मूलत: गढ़ उपरोड़ा के रहने वाले एक दंपत्ति एतमनागर में रह रहे थे पति पेशे से मछुवारा है घटना की रात दोनों पति पत्नी गाली गलौच करते हुए उनके घर आये और उनके पति परदेशी पर छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए उसे घर से बाहर आने को कहा परदेशी उनकी आवाज सुनकर जैसे ही बाहर आया दम्पती उस पर टूट पड़े और पास रखे लाठी-डंडे से हमला करते हुए परदेशी को गम्भीर रूप से घायल कर दिया 112 की टीम ने उसे फौरन पोंड़ी-उपरोड़ा के अस्पताल दाखिल कराया लेकिन वहां उसकी मौत हो गई हमले के दौरान आरोपी पति-पत्नी ने परदेशी की पत्नी को भी जान से मारने की धमकी दी लेकिन उसने मौके से भागकर अपनी जान बचा ली. आरोपी दम्पती करीब दो सालों तक पुलिस (Police) को चकमा देकर अपना लोकेशन बदलते रहे कोरबा पुलिस (Police) को मुखबिर से सूचना मिली कि पति पत्नी कोहडिय़ा आये हुए है और एक घर मे छिपे है जिसके बाद दबिश देकर उन्हें हिरासत में ले लिया गया. आरोपियों की गिरफ्तारी में बांगो टीआई के नेतृत्व में उप निरीक्षक एन.पी. लहरे, आरक्षक सलामुद्दीन, सन्तोष तिवारी, उमेश खूंटे व सीएसईबी चौकी के स्टाफ की भूमिका रही.

Please share this news