Saturday , 8 May 2021

कूचबिहार में फायरिंग पर चुनाव आयोग ने कहा ‘सुरक्षाबलों ने जिंदगी बचाने के लिए फायरिंग की’

नई दिल्ली (New Delhi) . बंगाल चुनाव के चौथे चरण में मतदान के दौरान कूचबिहार (Bihar) में मतदान के समय हुई हिंसा को काबू करने के लिए सीआईएसएफ की फायरिंग में चार लोगों की मौत पर चुनाव आयोग ने कहा है कि सुरक्षाबलों ने जिंदगी बचाने के लिए फायरिंग की. हालांकि टीएमसी का दावा है कि मरने वालों की संख्या पांच है. घटना पर चुनाव आयोग ने रिपोर्ट मांगी थी.

कूचबिहार (Bihar) के सितालकुची विधानसभा सीट के एक मतदान केंद्र पर शनिवार (Saturday) को सुबह करीब 11 बजे बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई थी. रिपोर्ट्स के अनुसार झड़प में दोनों तरफ से बम और गोलियों का इस्तेमाल हुआ. स्थिति को नियंत्रित करने के लिए सीआईएसएफ की तरफ से फायरिंग की गई. जिसमें 4 लोगों की मौत हो गई.

इस पूरी घटना पर चुनाव आयोग का कहना है कि यह हिंसा गलतफहमी की वजह से हुई है. सुबह जब केंद्रीय सुरक्षा बल सीतलकुची में मतदान केंद्र के पास एक बीमार लड़के की मदद करने की कोशिश कर रहे थे, तब कुछ स्थानीय लोगों ने सोचा कि लड़के को केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल यानी सीआईएसएफ वाले उसे पीट रहे हैं. इसी गलतफहमी में वहां 300-350 ग्रामीण जमा हो गए और उतेजित भीड़ ने मतदान केंद्र पर घातक हथियारों के साथ हमला कर दिया. इतना ही नहीं, उतेजित भीड़ ने सुरक्षाबलों पर भी हमला कर दिया और उनके हथियारों को भी छीनने की कोशिश की. इस घटना के बाद चुनाव आयोग ने यहाँ मतदान रोक दिया है.

Please share this news