Monday , 26 July 2021

मोदी सरकार का फैसला, कोविशील्ड वैक्सीन की दूसरी डोज में कम से कम 6-8 सप्ताह अंतराल जरुरी


नई दिल्ली (New Delhi) . देश में चल रहे कोरोना टीकाकरण अभियान के बीच केंद्र ने कोविशील्ड वैक्सीन की दूसरी डोज को लेकर अहम फैसला लिया है. मोदी सरकार ने कोविशील्ड वैक्सीन की दूसरी डोज पहली डोज से कम से कम 6-8 सप्ताह के बाद लगाने के लिए कहा है. यह फैसला सिर्फ सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा बनाई जा रही कोविशील्ड वैक्सीन पर ही लागू होगा, जबकि को-वैक्सीन की दूसरी डोज पहले जैसे ही तय समय-सीमा के अंतराल पर ही लगेगी. केंद्र सरकार (Central Government)ने कहा है कि नेशनल टेक्निकल एडवाइजरी ग्रुप ऑन इम्युनाइजेश और एक्सपर्ट ग्रुप के फैसले के आधार पर यह कदम उठाया गया है.

टीकाकरण अभियान के लिए देश में दो वैक्सीन को मंजूरी मिली है. एक एसआईआई द्वारा बनी कोविशील्ड है, जबकि दूसरी वैक्सीन भारत बायोटेक की कोवैक्सीन है. अभी कोविशील्ड वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज के बीच 28 दिनों का अंतराल है, या फिर 4-6 सप्ताह का अंतराल होता है. हाल ही में केंद्र सरकार (Central Government)ने एसआईआई को कोविशील्ड वैक्सीन की 10 करोड़ डोज और तैयार करने को कहा है.इसकी मुख्य वजह देश में कोरोना टीकाकरण अभियान में तेजी लाना है. अभी तक एसआईआई साढ़े छह करोड़ से ज्यादा डोज सरकार को दे चुकी है. इसके अलावा, छह करोड़ से अधिक टीके की खुराक 76 देशों को भेजी जा चुकी हैं, जबकि देश में लोगों को अब तक साढ़े चार करोड़ खुराक लगी हैं.

मालूम हो कि देश में मध्य जनवरी से कोरोना टीकाकरण अभियान चल रहा है. सबसे पहले हेल्थ वर्कर्स को कोविड वैक्सीन लगवाई गई, जिसके बाद फ्रंटलाइन वर्कर्स को लगी. दूसरे फेज की शुरुआत एक मार्च से हुई है. इसके तहत अभी 60 साल से अधिक उम्र वालों को कोरोना वैक्सीन लग रही है. वहीं, जिन लोगों की उम्र 45 साल से अधिक है और वे को-मॉर्बिडिटीज से पीड़ित हैं, वे भी कोरोना की वैक्सीन लगवा सकते हैं.

Please share this news