Saturday , 5 December 2020

सऊदी अरब के बैंक नोट पर भारत की सीमाओं को गलत चित्रण, भारत ने जताई कड़ी आपत्ति

नई दिल्ली (New Delhi) . सऊदी अरब के बैंक (Bank) के नए 20 रियाल के नोट पर प्रिंट किए गए वैश्विक मानचित्र में जम्मू-कश्मीर और लेह को भारत के हिस्से के रूप में नहीं दिखाया गया है. भारत की सीमाओं को गलत रूप से दिखाने पर भारत ने कड़ा एतराज जताया है. नोट पर प्रिंट किए गए इस नक्शे में जम्मू-कश्मीर और लेह को भारतीय इलाके में नहीं दिखाया गया था. सऊदी अरब ने पिछले हफ्ते बैंक (Bank) नोट जारी किया था. भारत ने अपनी सीमाओं के गलत चित्रण पर खाड़ी देश को अपनी चिंता से अवगत करा दिया है. भारत ने कहा है कि इसे ठीक करने के लिए त्वरित कदम उठाया जाए. यह जानकारी विदेश मंत्रालय ने दी.

जी-20 समूह की सऊदी अरब की ओर से अध्यक्षता किए जाने के मौके पर इसे इस बैंक (Bank) नोट को जारी किया गया. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग वास्तव ने कहा कि भारत ने सऊदी अरब से कहा है कि मामले में त्वरित सही कदम उठाए जाएं. हमने कहा कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख का पूरा हिस्सा भारत का अभिन्न अंग है. वास्तव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘आप जिस बैंक (Bank) नोट का जिक्र कर रहे हैं उसे हमने देखा है, जिसमें भारत की सीमाओं का गलत चित्रण किया गया है. नोट को सऊदी अरब की मॉनिटरी अथॉरिटी ने 24 अक्टूबर को सऊदी द्वारा जी-20 की अध्यक्षता करने के अवसर पर जारी किया था.’

उन्होंने कहा, ‘हमने सऊदी अरब को नई दिल्ली (New Delhi) में उनके राजदूत के माध्यम से और रियाद में भी अपनी गंभीर चिंता से अवगत करा दिया है और सऊदी अरब से कहा है कि इस बारे में जल्द सही कदम उठाए.’ वास्तव ने कहा, ‘मैं फिर एक बार कहना चाहूंगा कि संघ शासित जम्मू-कश्मीर और लद्दाख का संपूर्ण हिस्सा भारत का अभिन्न हिस्सा है.’ खबरों के मुताबिक, मानचित्र में गिलगिट-बाल्टिस्तान सहित पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) को भी पाकिस्तान का हिस्सा नहीं दिखाया गया है. पाकिस्तान, सऊदी अरब को अपना महत्वपूर्ण सहयोगी मानता है और पाकिस्तान के मानचित्र से पीओके को हटाए जाने को इस्लामाबाद में झटके के रूप में देखा जा रहा है.