Tuesday , 19 January 2021

हिमालया ने पेश की माउथ डिज़ॉल्विंग टेबलेट्स की डी-क्यू रेंज


उदयपुर (Udaipur).
 हिमालया ड्रग कंपनी ने क्यू-डी माउथ डिज़ॉल्विंग टेबलेट्स क्यू-डी इम्युनिटी और क्यू-डी क्रैंप्स की पेशकश की है. क्यू-डी इम्युनिटी टेबलेट फ्लू एवं जुकाम के आम लक्षण जैसे कि गला खराब, खांसी, छींक एवं बंद नाक में आराम देती हैं. यह टेबलेट इम्युनिटी को मजबूत करने में भी मदद करती है. क्यू-डी क्रैंप्स महिलाओं में माहवारी के दौरान परेशानी को कम करती है और इसके चलते पेट में होने वाले दर्द में आराम देती है. हिमालया की क्यू-डी इम्युनिटी फॉर्मुलेशन का एक नया युग शुरू कर रही है. यह मुंह में 180 सेकंड में घुल जाती है, जिससे तेजी से असर शुरू होता है. क्यू-डी इम्युनिटी एवं क्यू-डी क्रैंप्स के आठ टेबलेट के पैक की कीमत 30 रूपये है और यह अग्रणी केमिस्ट, ऑनलाईन स्टोर्स एवं www.himalayawellness.in  पर उपलब्ध है.

अनिल एम. जिय़ांदानी, बिजऩेस डायरेक्टर, फार्मास्युटिकल डिवीजऩ, हिमालया ड्रग कंपनी ने कहा कि आज की तेज जीवनशैली में उपभोक्ता तेजी से प्रभावशाली परिणाम चाहते हैं. मुंह में आसानी से घुलने वाली हिमालया की यह माउथ डिज़ॉल्विंग टेबलेट रेंज शीघ्र असर करती है. जेब के अनुकूल पैकेजिंग के कारण इसे रखना व उपयोग करना आसान है. क्यू-डी इम्युनिटी एवं क्यू-डी क्रैंप्स इंस्टैंट, ऑन-द-गो समाधान हैं, जो संबंधित समस्याओं में तीव्र आराम देते हैं. उन्होंने कहा कि हिमालया क्यू-डी इम्युनिटी एवं क्यू-डी क्रैंप्स टेबलेट्स का लॉन्च क्यू-डी माउथ डिज़ॉल्विंग टेबलेट्स की रेंज में प्रथम है. यह सुविधाजनक रूप में आयुर्वेदिक समाधान प्रदान करने का प्रयास है. कंपनी जल्द ही स्वास्थ्य की अन्य समस्याओं के लिए भी माउथ डिज़ॉल्विंग टेबलेट्स की रेंज लॉन्च करने की योजना बना रही है.

क्यू-डी इम्युनिटी माउथ डिज़ॉल्विंग टेबलेट्स तुलसी, यष्टिमधु, लोधरा एवं शांता के अर्क से बनी है, जो इम्युनिटी को मजबूत कर फ्लू एवं जुकाम के आम लक्षण -गला खराब, खांसी, छींक एवं बंद नाक से आराम देती है. इन टेबलेट्स में किसी कृत्रिम स्वाद/स्वीटनर/कलर का उपयोग नहीं किया गया है, ताकि इसका हर्बल गुण व स्वाद बना रहे. क्यू-डी क्रैंप्स का विकास दालचीनी और यष्टिमधु (मुलैठी) के अर्क से किया गया है, जो मांसपेशियों की ऐंठन से आराम देती हैं. डिस्मेनोरिया (पीड़ादायक माहवारी) महिलाओं की एक आम समस्या है. दर्द व ऐंठन से महिलाओं के जीवन की गुणवत्ता, व्यक्तिगत स्वास्थ्य एवं काम की उत्पादकता कम हो जाती है. इसलिए यह माहवारी के वक्त या उसके दौरान पेट में उठने वाली ऐंठन एवं अन्य लक्षणों जैसे पसीना आना, सिरदर्द होना, उबकाई, उल्टी, दस्त आदि से आराम देती है.

Please share this news