Monday , 30 November 2020

हिंदुत्व का मतलब सहिष्णुता है – फडणवीस का हामिद अंसारी को जवाब


मुंबई (Mumbai) . भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि हिंदुत्व का मतलब सहिष्णुता है. फडणवीस का यह बयान पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी के उस बयान के संदर्भ में आया है, जिसमें उन्होंने एक दिन पहले कहा था कि कोरोना (Corona virus) संकट से पहले ही भारतीय समाज दो महामारियों- धार्मिक कट्टरता और आक्रामक राष्ट्रवाद का शिकार हो गया था.

अंसारी के बयान के संबंध में पूछे गए एक सवाल पर फडणवीस ने संवाददाताओं से कहा, ‘हिंदुत्व कभी भी कट्टर (विचारधारा) नहीं रहा है. यह हमेशा सहिष्णु रहा है. हिंदुत्व इस देश में जीवन जीने का प्राचीन तरीका है. हिंदुओं ने कभी किसी पर या किसी भी देश या किसी राज्य पर हमला नहीं किया.’ पूर्व मुख्यमंत्री (Chief Minister) फडणवीस ने कहा कि हिंदू धर्म ने हमेशा सहिष्णुता सिखाई है और इस वजह से भारत में विभिन्न पंथों और जातियों के लोग शांति से रहते आए हैं.

इससे पहले कांग्रेस के नेता शशि थरूर की नई किताब ‘द बैटल ऑफ बिलॉन्गिंग’ के डिजिटल विमोचन पर अंसारी ने कहा था कि ‘कोविड एक बहुत ही बुरी महामारी (Epidemic) है, लेकिन इससे पहले ही हमारा समाज दो महामारियों- धार्मिक कट्टरता और आक्रामक राष्ट्रवाद का शिकार हो गया था. उन्होंने यह भी कहा कि धार्मिक कट्टरता और उग्र राष्ट्रवाद के मुकाबले देशप्रेम ज्यादा सकारात्मक अवधारणा है.’ सोशल मीडिया (Media) पर हामिद अंसारी के इस बयान की आलोचना हो रही है.

कोरोना (Corona virus) महामारी (Epidemic) के बीच महाराष्ट्र (Maharashtra) के कुछ शहरों में 9 वीं से 12वीं कक्षाओं के लिए स्कूलों को फिर से खोले जाने के बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में फडणवीस ने कहा कि इस फैसले पर गंभीरता से फिर विचार किया जाना चाहिए. फडणवीस ने कहा कि राज्य सरकार (State government) को अन्य राज्यों के अनुभव को ध्यान में रखना चाहिए, जहां स्कूलों के फिर से खोलने पर कोरोना (Corona virus) के मामलों में वृद्धि हुई है.