Saturday , 16 January 2021

कोविडशील्ड वैक्सीन टेस्ट से समस्या होने पर चेन्नई के वालंटियर ने सीरम से मांगा पांच करोड़ हर्जाना


चेन्नई (Chennai) . महामारी (Epidemic) कोरोना के चलते वैक्सीन के लिए प्रयासरत पुणे (Pune) स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में विकसित की जा रही कोविडशील्ड वैक्सीन के एक वालंटियर और शहर के 40 वर्षीय बिजनेस कंसल्टेंट ने टेस्ट डोज दिए जाने के बाद न्यूरोलाजिकल समस्याएं होने पर पांच करोड़ रुपये का हर्जाना मांगा है.

वालंटियर के वकील एनजीआर प्रसाद ने बताया कि वैक्सीन की टेस्ट डोज दिए जाने के बाद उनके मुवक्किल को न्यूरोलाजिकल स्वास्थ्य संबंधी गंभीर समस्याएं विकसित हो गईं. उन्होंने सीरम इंस्टीट्यूट, इंडियन काउंसिल आफ मेडिकल रिसर्च, ब्रिटेन की एस्ट्राजेनेका, ड्रग्स कंट्रोलर जनरल आफ इंडिया, आक्सफोर्ड वैक्सीन ट्रायल के चीफ इंवेस्टीगेटर एंड्रू पोलार्ड, यूनिवर्सिटी आफ आक्सफोर्ड के द जेनर इंस्टीट्यूट आफ लेबोरेटरीज और रामचंद्र हायर एजुकेशन एंड रिसर्च के वाइस चांसलर को कानूनी नोटिस भेजा है. ये नोटिस 21 नवंबर को जारी किए गए थे और अभी तक किसी भी पक्षकार से जवाब नहीं मिला है.

Please share this news