Friday , 14 May 2021

जनवरी से मार्च तक तीन ओपन बुक टेस्ट होंगे

जबलपुर, 21 जनवरी . स्कूल शिक्षा विभाग ने कक्षा पहली से आठवीं तक की परीक्षा और फाइनल रिजल्ट तैयार करने की तैयारी कर ली है. इस बार कक्षा तीसरी से आठवीं तक के जनवरी से मार्च तक तीन ओपन बुक टेस्ट होंगे. तीनों टेस्ट के प्राप्तांकों से फाइनल रिजल्ट बनाया जाएगा. इसके लिए प्रश्नपत्र की पुस्तिका छपकर तैयार है. पहली से तीसरी तक के स्टूडेंट्स को इस बार पाठ्य पुस्तक की जगह अभ्यास पुस्तिका दी जाएगी इसी से वार्षिक परीक्षा का रिजल्ट बनेगा. हर माह टेस्ट का शेड्यूल भी राज्य शिक्षा विभाग ने जारी कर दिए हैं. उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमण के चलते पिछले साल मार्च महीने से ही स्कूल बंद हैं. पिछले साल विद्यार्थियों को जनरल प्रमोशन के माध्यम से अगली कक्षा में प्रमोट किया गया था. नए सत्र में भी प्राइमरी और मिडिल स्कूल बच्चों के लिए बंद हैं. ऐसे में ऑनालाइन और मोहल्ला कक्षाओं के माध्यम से बच्चों की पढ़ाई हो रही थी. डीपीसी अनिल श्रीवास्तव ने बताया कि कोरोना काल में स्कूलों का संचालन नहीं हो सका है. अब प्राइमरी और मिडिल कक्षाओं के मूल्यांकन की प्रक्रिया का शेड्यूल जारी कर दिया है. प्रश्न पुस्तिकाएं भी दी जा रही है

12 दिन का होगा प्रतिभा पर्व…………

कक्षा 1 से 8 तक के विद्यार्थियों का अद्र्धवार्षिक मूल्यांकन प्रतिभा पर्व के रूप में किया जाएगा. यह मूल्यांकन 20 से 31 जनवरी के बीच होगा. सोमवार (Monday) तक सभी स्कूलों के बच्चों को बुकलेट का वितरण किया गया. अब 31 जनवरी तक बच्चे बुकलेट पूरी करेंगे. इसके बाद 10 फरवरी तक बच्चों से बुकलेट वापस शिक्षकों के पास जमा होंगी. 10 से 25 फरवरी तक इनका मूल्यांकन किया जाएगा. बता दें कि हर साल प्रतिभा पर्व तीन दिन का मनाया जाता था. लेकिन इस बार घर पर ही बच्चों का मूल्यांकन होना है इसलिए प्रतिभा पर्व की अवधि 12 दिन रखी गई है. बच्चों का मूल्यांकन विषयवार वर्कशीट पर होगा. जिसमें प्रत्येक विषय का पूर्णांक 20 अंक होगा.

1 लाख 5 हजार बच्चे होंगे शामिल…………

यह पहला मौका है जब इस तरह की परीक्षा पहली से आठवीं तक के बच्चे देंगे. ओपन बुक सिस्टम की परीक्षा में जिले के प्राइमरी और मिडिल स्कूल के करीब 1 लाख 5 हजार 328 छात्र-छात्राएं शामिल होंगे. नई परीक्षा व्यवस्था से विद्यार्थियों में खुशी भी है लेकिन लंबे समय से स्कूल बंद होने से विद्यार्थियों में परीक्षा को लेकर उर भी उतना ही है.

फरवरी और मार्च में होगा वार्षिक मूल्यांकन………………..

कक्षा 1 से 8 तक के बच्चों का वार्षिक मूल्यांकन प्रतिभा पर्व की तरह ही फरवरी और मार्च महीने में दो अलग-अलग चरण में होगा. पहले चरण में 15 से 18 फरवरी तक सभी बच्चों को बुकलेट दी जाएगी. 18 से 25 फरवरी तक बच्चे बुकलेट पूर्ण करेंगे और 8 मार्च तक उसे जमा करेंगे. इसी दौरान बुकलेट का मूल्यांकन होगा. इसी तरह दूसरे चरण में 25 फरवरी से 8 मार्च तक बच्चों को बुकलेट दिए जाएंगे. 8 से 20 मार्च तक बच्चे बुकलेट पूरी करेंगे और 25 मार्च तक जमा करेंगे. 25 मार्च तक इन बुकलेट का मूल्यांकन शिक्षकों को पूरा करना होगा.

10वीं और 12वीं कक्षा की उत्तर पुस्तिकाएं जिले में ही होंगी चेक…………..

10वीं एवं 12वीं बोर्ड परीक्षा की उत्तर पुस्तिकाओं की जांच अब जिलास्तर पर ही होगी. उत्तर पुस्तिकाएं जंचने के लिए अन्य जिले में नहीं जाएंगी. यही नहीं, जिस विषय का प्रश्नपत्र होगा उसके दूसरे ही दिन से उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन भी शुरू हो जाएगा. ऐसे में परीक्षा परिणाम भी जल्दी आएगा. कोविड.19 के चलते माशिमं द्वारा इस साल शिक्षा सत्र 2020.21 से बोर्ड परीक्षा पैटर्न के साथ-साथ कॉपियों को जांचने व मूल्यांकन की प्रक्रिया में भी बड़ा बदलाव करने का निर्णय लिया है. इसके तहत परीक्षाएं भले ही दो महीने देरी से यानी अप्रैल में हो रही हैं, लेकिन रिजल्ट जल्द घोषित होगा. इसलिए कॉपियों का मूल्यांकन भी प्रश्नपत्र होने के दूसरे दिन से ही शुरू हो जाएगा.

ऐसे होगी पहली से 8वीं तक की परीक्षा………….

तीसरी से आठवीं कक्षा तक अलग-अलग कक्षा के प्रश्न पत्रों की पुस्तिका बनेगी. एक प्रश्न पुस्तिका में कक्षा के अनुसार सभी विषयों के प्रश्न पत्र रहेंगे. स्कूल के शिक्षक स्टूडेंट्स तक प्रश्न पुस्तिका पहुंचाएंगे, जिन्हें स्टूडेंट अपने घर पर अभिभावकों की मदद से हल करेंगे.

Please share this news