Thursday , 26 November 2020

5 लाख दहेज की मांग को लेकर तीन तलाक देने वाले अभियुक्त को न्यायालय ने जेल भेजा

उदयपुर. मुस्लिम समुदाय से ताल्लुक रखने वाले 2 परिवारों में आते साथ विवाह करने के बाद विवाहिता को विवाह के शुरुआत से ₹500000 की मांग करने उसे मानसिक व शारीरिक रूप से प्रताड़ित करने तथा हाली विवाहिता के घर जाकर उसे तीन बार तलाक तलाक तलाक कहने के मामले में अभियुक्त पति को न्यायिक मजिस्ट्रेट उत्तर क्रम संख्या 1 ने गंभीर मानते हुए न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया है.. तीन तलाक के मामले में संभवत या उदयपुर (Udaipur)का यह पहला अभियुक्त है जिसे न्यायालय ने गंभीर मानते हुए न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया है.

प्रार्थीया धानमंडी निवासी मती आमना पत्नी जाकिर हुसैन पुत्र सलीम हुसैन का विवाह सेक्टर 12 सवीना निवासी जाकिर हुसैन पिता इस्माइल हुसैन के साथ हुआ इस घर में दोनों बहने तथा दोनों भाइयों के बीच आटे साठे के तहत दो बहनों और दो भाइयों का विवाह हुआ विवाह के कुछ दिन के बाद से ही प्रार्थीया का पती का पति जाकिर हुसैन अपनी पत्नी को लगातार ₹500000 नगद दहेज में लाने अन्यथा दुबारा विवाह करने की धमकी दे रहा था इस दौरान पति ने पत्नी के साथ कई प्रकार की मानसिक एवं शारीरिक यातनाएं भी कार्य की लिहाजा विवाहिता का तीन बार गर्भधारण हुआ जिसे पति ने गर्भपात करा दिया.

विवाहिता के अनुसार पति जाकिर हुसैन व उसके परिजनों ने उसकी निजी स्वतंत्रता पर भी रोक लगा दी और शंका के आधार पर बंधक बनाकर बेरहमी से मारपीट करता हूं विवाहिता ने बताया कि पति में शुक्राणु की कमी के बावजूद स्वयं का इलाज नहीं करा कर वह पत्नी पर शंका करता हूं. विवाहिता ने बताया कि 10 नवंबर को प्रार्थी या को पति व उसके ससुराल कर्मियों मैं सास एवं जेठ हुसैन राजा व शराफत ने मारपीट कर ने घर से बाहर निकाल दिया तथा गुस्से में आक्रोशित पति उसका भाई 8:00 बजे पत्नी के घर आया और कहने लगा कि तू ₹500000 लेकर मेरे साथ चल वरना मैं तुझे तलाक का नोटिस भेजता हूं और उसने मौके पर ही विवाहिता के परिजनों के सम्मुख तीन बार तलाक देता हूं तलाक देता हूं तलाक देता हूं का उच्चारण दोहरा दिया.

विवाहिता ने धान मंडी थाना पुलिस (Police) में अधिवक्ता हरीश पालीवाल के मार्फत तीन तलाक दहेज प्रताड़ना देने एवं अमानत में खयानत स्त्री धन हड़प लेने के साथ विवाहिता की निजता को भंग करने के मामले में प्रकरण दर्ज कराया धानमंडी थाना पुलिस (Police) ने आज अभियुक्त को गिरफ्तार कर न्यायिक मजिस्ट्रेट उत्तर क्रम संख्या एक सुधीर कुमार के समक्ष पेश किया.

अभियुक्त की ओर से अधिवक्ता  ने जमानत याचिका पेश कर इससे तलाक ए हसन बताया और कहा कि यह एक तलाक है जबकि दो देना बाकी है. प्रार्थी की ओर से अधिवक्ता हरीश पालीवाल ने उपस्थित होकर बताया कि अभियुक्त का परिवार दहेज लोभी है उसकी बड़ी बहन को भी जेठ ने ₹500000 की दहेज की मांग को लेकर घर से बाहर निकाल रखा है तथा यही वाकिया इसके पति ने भी विवाहिता के साथ दोहराया है वही प्रेषित तलाकनामा में बहुत ही गंदी भाषा का प्रयोग कर महिला की निजता को भंग किया गया है तथा उसे हर रूप में बदनाम करने की धमकी भी दी गई है. दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद न्यायालय ने मामले की गंभीरता को देखते हुए न्यायाधीश (judge) सुधीर कुमार ने अभियुक्त जाकिर हुसैन पुत्र इस्माइल हुसैन को आगामी 15 दिनों के लिए न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया.