Saturday , 16 January 2021

हैदराबाद का नाम ‘भाग्‍यनगर’ करने पर योगी और ओवैसी आमने सामने, जुबानी जंग तेज


हैदराबाद . तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में स्थानीय निकाय चुनाव प्रचार में उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ और एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के बीच हैदराबाद के नाम को बदलने को लेकर जुबानी जंग छिड़ गई है. योगी आदित्‍यनाथ के हैदराबाद का नाम बदलकर भाग्‍यनगर करने के बयान पर ओवैसी ने शनिवार (Saturday) को जोरदार पलटवार किया. ओवैसी ने कहा कि उनका नाम बदल जाएगा, उनकी नस्‍लें तबाह हो जाएंगी लेकिन हैदराबाद का नाम नहीं बदलेगा.

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, ‘जो शख्स (योगी आदित्‍यनाथ) हैदराबाद का नाम बदलना चाहता है, उनकी नस्लें तबाह हो जाएगी लेकिन इस शहर का नाम नहीं बदलेगा. हम अली के नाम लेवा हैं. हम तुम्हारा नाम तब्दील कर देंगे. मैं आप लोगों (मतदाताओं) को वास्ता देता हूं कि आप लोगों को जवाब देना होगा उन लोगों को जो शहर का नाम बदलना चाहते है.’ उन्‍होंने कहा कि बीजेपी हर चीज बदलना चाहती है. यूपी के मुख्‍यमंत्री आपने नाम बदलने का ठेका ले रखा है क्‍या?
एआईएमआईएम चीफ ने कहा कि भाजपा ने हैदराबाद के नगर निकाय चुनाव में इतने नेताओं को बुला लिया है कि अब केवल डोनाल्‍ड ट्रंप का आना बाकी है. ओवैसी ने कहा कि चाहे ट्रंप भी क्‍यों न आ जाएं, कुछ भी नहीं होगा. पीएम मोदी ने ट्रंप का हाथ पकड़कर कहा था कि अबकी बार ट्रंप सरकार लेकिन ट्रंप भी गड्ढे में गिर गए. ओवैसी ने जिन्‍ना को लेकर भी बीजेपी पर हमला बोला.

हैदराबाद का प्राचीन नाम भाग्यनगर क्यों नहीं?

ओवैसी ने कहा कि बीजेपी के लोग लाख जिन्‍ना-जिन्‍ना कह लें लेकिन हमने जिन्‍ना की मोहब्‍बत को ठुकराया है. उन्‍होंने दावा किया कि एक दिसंबर को जनता मजलिस को वोट देकर बीजेपी को जोरदार तमाचा मारेगी. इससे पहले हैदराबाद में रोड शो के दौरान सीएम योगी ने कहा था कि हमने फैज़ाबाद का नाम अयोध्या (Ayodhya) किया. हमने इलाहाबाद का नाम प्रयागराज (Prayagraj)किया. ये हमारे संस्कृति के प्रतीक हैं. तो हैदराबाद का प्राचीन नाम भाग्यनगर क्यों नहीं हो सकता.

सीएम योगी ने बिहार (Bihar) में जीते एआईएमआईएम के विधायक के शपथ ग्रहण का जिक्र करते हुए ओवैसी पर जमकर निशाना साधा. योगी ने ओवैसी की पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि जो लोग हिंदुस्तान में रहते हैं, वह हिंदुस्तान का नाम शपथ में नहीं लेते. ये घटना दिखाती है कि ओवैसी की एआईएमआईएम का असली चेहरा क्या है. इस तरह हैदराबाद नगर निगम चुनाव ओवैसी और बीजेपी नेताओं के बीच जंग का मैदान बन गया है.

Please share this news