Sunday , 25 July 2021

महापंचायत ने आंदोलनकारी किसानों से सिंघू सीमा से जोड़ने वाली सड़क का एक हिस्सा खोलने की मांग की

सोनीपत . हरियाणा (Haryana) के सोनीपत में लगभग 20 गांवों की “महापंचायत” ने कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन कर रहे किसानों से दिल्ली की सिंघू सीमा से जोड़ने वाली सड़क का एक हिस्सा खोलने की मांग की.

महापंचायत ने कहा “जिन लोगों को अपनी नौकरी के लिए यात्रा करने की आवश्यकता होती है, उन्हें बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. जो छात्र (student) अपनी ट्यूशन और कोचिंग कक्षाओं में जाते हैं, वे भी प्रभावित होते हैं. औद्योगिक इकाइयों और कई दुकानों को भारी नुकसान हो रहा है. हमें किसानों के साथ कोई समस्या नहीं है, लेकिन नागरिकों के रूप में, हमारे पास भी समान अधिकार हैं,”

महापंचायत के अध्यक्षता करने वाले रामफल सरोहा ने कहा, “प्रदर्शनकारियों (Protesters) ने पिछले सात महीनों से पूरी सड़क को अवरुद्ध कर दिया है. हम मांग कर रहे हैं कि इसके एक तरफ का रास्ता साफ किया जाए क्योंकि इलाके के लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.” उन्होंने कहा कि किसानों को सड़क खाली करने के लिए 10 दिन का समय दिया गया है.

अगर ऐसा नहीं किया गया तो दिल्ली में और भी बड़ी महापंचायत होगी, जिसमें कुंडली, नरेला और हरियाणा (Haryana) और दिल्ली के आसपास के इलाकों के 100 से ज्यादा गांव हिस्सा लेंगे. सरोहा ने कहा कि हरियाणा (Haryana) के कुंडली सीमा के करीब 15 और सिंघू सीमा के पास दिल्ली के पांच गांवों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया. सरोहा ने कहा कि क्षेत्र के कई किसानों को भी अपनी सब्जियां मंडियों में ले जाने में समस्या का सामना करना पड़ रहा है.

Please share this news