Thursday , 3 December 2020

गोवा की पूर्व राज्यपाल Mridula Sinha का 77 साल की उम्र में निधन

नई दिल्ली (New Delhi) . गोवा की पूर्व राज्यपाल मृदुला सिन्हा का बुधवार (Wednesday) को 77 वर्ष की आयु में निधन हो गया. उनके निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) , गृह मंत्री अमित शाह ने शोक व्यक्त किया है. मृदुला सिन्हा गोवा की पहली महिला राज्यपाल थीं. बिहार (Bihar) के मुजफ्फरपुर में जन्मीं सिन्हा विख्यात हिंदी लेखिका होने के साथ-साथ बीजेपी की वरिष्ठ नेता भी थीं. मृदुला सिन्हा 26 अगस्त, 2014 से लेकर 2 नवंबर 2019 तक गोवा की राज्यपाल थीं.

गोवा की पूर्व राज्यपाल के निधन पर शोक जताते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया मती मृदुला सिन्हा जी को जनसेवा के लिए किए गए उनके प्रयासों के चलते याद किया जाएगा. वह एक कुशल लेखिका भी थीं, जिन्होंने साहित्य के साथ-साथ संस्कृति की दुनिया में भी व्यापक योगदान दिया. उनके निधन से दुखी हूं. उनके परिवार एवं प्रशंसकों के प्रति संवेदना. वहीं, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा गोवा की पूर्व राज्यपाल व वरिष्ठ बीजेपी नेता मृदुला सिन्हा जी का निधन बहुत दुःखद है. उन्होंने जीवन पर्यन्त राष्ट्र, समाज और संगठन के लिए काम किया.

वह एक निपुण लेखिका भी थीं, जिन्हें उनके लेखन के लिए भी सदैव याद किया जाएगा. उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं. बता दें कि मृदुला सिन्हा पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहार (Bihar) ी वाजपेयी के समय केंद्रीय समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष भी रही थीं. उनकी प्रकाशित किताबों में राजपथ से लोकपथ पर, नई देवयानी, ज्यों मेंहदी को रंग, घरवास, देखन में छोटे लगें, सीता पुनि बोलीं आदि शामिल हैं.