Wednesday , 16 June 2021

पूर्व केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह के जन्मदिन कार्यक्रम का किसानों ने किया विरोध

रोहतक (Rohtak) . हरियाणा (Haryana) के रोहतक (Rohtak) के सांपला स्थित चौधरी छोटूराम संग्रहालय के बाहर भाजपा नेता चौधरी बीरेन्द्र सिंह का जन्म दिवस समारोह रद्द करना पड़ा था. इसका आयोजन उनके समर्थकों ने चौधरी छोटूराम विचार मंच के बैनर तले आयोजित किया था. रद्द करने का कारण था किसानों का हंगामा और काले झंडे लेकर विरोध प्रदर्शन.

किसानों का कहना है कि चौधरी बिरेंदर सिंह एक तरफ तो किसानों के हिमायती होने का दम भरते हैं और दूसरी तरफ उनके बेटे भाजपा के सांसद (Member of parliament) हैं. अगर वे इतने ही किसान हितेषी हैं तो इस्तीफा देकर किसानों के समर्थन में आएं. बीरेंद्र सिंह को दोतरफा बातें नहीं करनी चाहिए. फिलहाल वे भाजपा से ताल्लुक रखते हैं और संयुक्त किसान मोर्चा का यह आह्वान है कि कोई भी बीजेपी या जेजेपी का नेता कहीं पर भी कोई कार्यक्रम नहीं कर सकता और इसी को लेकर इस कार्यक्रम का विरोध किया गया.

इस कार्यक्रम के लिए काफी संख्या में युवाओं को सांपला पहुंचना था और इसको लेकर एक बाइक रैली भी निकाली जानी थी. जैसे ही छोटू राम संग्रहालय के पास बाइक सवारों का पहला जत्था पहुंचा, किसानों ने उनका विरोध किया और चौधरी बीरेंद्र सिंह के पोस्टर लगी एक स्कूटी को पलट दिया. किसानों के गुस्से को देखकर तीन-चार बाइक सवार युवा अपनी मोटरसाइकिलों को छोड़कर भाग गए.

इस दौरान हालात पर नियंत्रण रखने के लिए भारी संख्या में पुलिस (Police) बल भी तैनात किया गया. मौके की नजाकत को देखते हुए आयोजकों ने कार्यक्रम को रद्द करना ही उचित समझा. किसानों का कहना है कि चौधरी बीरेंद्र सिंह को इस कार्यक्रम में आना था, इसलिए वे इसका विरोध कर रहे हैं. वहीं, आयोजकों की दलील है कि सरकार और किसानों के बीच में जो बातचीत रूकने का अवरोध पैदा हुआ है. उसी को खत्म करने के लिए इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया था और चौधरी बिरेंदर सिंह को इस कार्यक्रम में नहीं आना था, किसान बेवजह इसका विरोध कर रहे हैं.

Please share this news