असम तक पहुंची कांग्रेस कलह की आंच राहुल नेतृत्व करने में असमर्थ

गुवाहाटी (Guwahati) . पंजाब, राजस्थान (Rajasthan)और महाराष्ट्र (Maharashtra) के बाद अब कांग्रेस के भीतर घमासान की आंच असम तक पहुंच गई है. असम के कांग्रेस विधायक ने पार्टी पर कई गंभीर आरोप लगाकर इस्तीफा देने की बात कही है. असम के कांग्रेस विधायक रूपज्योति कुर्मी का कहना है कि कांग्रेस आलाकमान अपने युवा नेताओं की बजाय बुजुर्ग नेताओं को प्राथमिकता देता है और इसी वजह से सभी राज्यों में पार्टी की स्थिति खराब हो गई है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी आगे नहीं बढ़ पाएगी, क्योंकि वह नेतृत्व करने में समक्ष नहीं हैं. पंजाब (Punjab) और राजस्थान (Rajasthan)कांग्रेस में कलब के बीच असम से कांग्रेस विधायक रूपज्योति कुर्मी ने कहा कि कांग्रेस अपने युवा नेताओं की नहीं सुन रही है. इसलिए सभी राज्यों में इसकी स्थिति बिगड़ती जा रही है. मैं विधानसभा अध्यक्ष से मिलूंगा और अपना इस्तीफा दे दूंगा. राहुल गांधी नेतृत्व करने में असमर्थ हैं, अगर वह पार्टी के शीर्ष पर रहते हैं तो कांग्रेस आगे नहीं बढ़ेगी. उन्होंने आगे कहा कि मैं कांग्रेस छोड़ रहा हूं क्योंकि दिल्ली में आलाकमान और गुवाहाटी (Guwahati) के नेता बुजुर्ग नेताओं को ही प्राथमिकता देते हैं. हमने उनसे कहा था कि कांग्रेस के पास इस बार सत्ता में आने का अच्छा मौका है और हमें एआईयूडीएफ के साथ गठबंधन नहीं करना चाहिए क्योंकि यह एक गलती होगी और वास्तव में यही हुआ. बता दें कि पंजाब (Punjab) कांग्रेस में रार अब भी जारी है. कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच विवाद अभी खत्म नहीं हुआ है. वहीं राजस्थान (Rajasthan)में भी पायलट गुट और गहलोत गुट के बीच विवाद चल ही रहा है. मुंबई (Mumbai) कांग्रेस में भी आपसी कलह की खबर है क्योंकि पार्टी के एक विधायक जीशान सिद्दीकी ने मुंबई (Mumbai) कांग्रेस के चीफ भाई जगताप के खिलाफ सोनिया गांधी को लेटर लिखा है.

Please share this news