Saturday , 19 June 2021

कोरोना काल में वरदान है चिरंजीवी योजना : प्रत्येक परिवार को पांच लाख का हेल्थ बीमा


उदयपुर (Udaipur). मुख्यमंत्री (Chief Minister) अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) की राज्य के प्रत्येक परिवार को पांच लाख रूपये तक का चिकित्सा बीमा उपलब्ध कराने की महत्वाकांक्षी योजना मुख्यमंत्री (Chief Minister) चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना कोरोना काल में वरदान साबित हो रही है. उदयपुर (Udaipur) जिले में 1 मई से यह योजना लागू हो चुकी है. योजना के दायरे में कोरोना संक्रमित मरीजों को भी रखा गया है. कोविड संक्रमित मरीजों का इलाज करने के लिए अधिकृत निजी अस्पतालों में भी इस योजना का लाभ लिया जा सकता है. योजना में पंजीकरण की अंतिम तिथि 31 मई है.

इन्हें निःशुल्क हेल्थ बीमा

जिला परिषद सीईओ डाॅ. मंजू ने बताया कि 10 मई तक उदयपुर (Udaipur) जिले में कुल 50262 व्यक्तियों का पंजीयन हो चुका है. योजना के अन्तर्गत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के पात्र परिवार, सामाजिक एवं आर्थिक जनगणना 2011 के पात्र परिवार, संविदाकर्मी, लघु एवं सीमान्त किसान परिवार को पांच लाख रूपये तक का निःशुल्क मेडिकल बीमा मिलता है.

850 रूपये में पांच लाख का हेल्थ बीमा

वे अन्य सभी परिवार जो राज्य या केन्द्र सरकार की मेडीक्लेम सुविधा या मेडिकल अटेन्डेंस नियमों के तहत लाभ नहीं ले रहे हैं, ऐसे परिवारों को बीमा प्रीमियम की 50 फीसदी यानी लगभग 850 रूपये वार्षिक में सरकारी व निजी अस्पतालों में पांच लाख रूपये तक का कैशलेस इलाज करने की सुविधा मिलेगी.

ई-मित्र से पंजीकरण

जिले में कहीं भी ई-मित्र के माध्यम से योजना में पंजीकरण करवाया जा सकता है. पंजीकरण के लिए भामाशाह या जनआधार कार्ड या जनआधार संख्या या जनआधार के लिए पंजीकरण की रसीद और आधार कार्ड आवश्यक है. राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम और सामाजिक आर्थिक जनगणना 2011 के पात्र परिवारों को पंजीकरण कराने की आवश्यकता नहीं हैैै.

Please share this news