Tuesday , 13 April 2021

सरना धर्म कोड का प्रस्ताव पारित करना सबसे बड़ा फैसला-रामेश्वर उरांव

रांची (Ranchi) . झारखंड के वित्त तथा खाद्य आपूर्ति मंत्री डॉ. रामेश्वर उरांव ने कहा कि मुख्यमंत्री (Chief Minister) हेमंत सोरेन के नेतृत्व में एक वर्ष के कार्यकाल में तमाम विपरीत परिस्थितियों और वैश्विक कोरोना महामारी (Epidemic) काल में भी हर वर्ग के हितों की सुरक्षा को लेकर कई कार्य किये गये, लेकिन एक काम ऐसा किया गया, जिसने दिलों को दिल से जोड़ने का काम किया. यह काम था सरना धर्म कोड को लेकर एक प्रस्ताव विधानसभा से पारित कराना. डॉ0 उरांव रांची (Ranchi) के मोरहाबादी मैदान में सरकार के पहली वर्षगांठ पर आयोजित राजकीय समारोह को संबोधित कर रहे थे.

वित्त तथा खाद्य आपूर्ति मंत्री डॉ. रामेश्वर उरांव ने कहा कि एक वर्ष के कार्यकाल में सरकार ने सड़क, बिजली और अनाज देने का काम किया, कृषि ऋण माफ किया, इन योजनाओं से दिमाग को भले ही राहत मिला, लेकिन सरना धर्म कोड का प्रस्ताव विधानसभा से पारित होना दिलों को जोड़ने वाला काम था. इस निर्णय के कारण आदिवासी बहुल इलाके में मुख्यमंत्री (Chief Minister) हेमंत सोरेन सरकार की भूरि-भूरि प्रशंसा हो रही है, भविष्य में किसी भी सरकार बने, लेकिन लोग मुख्यमंत्री (Chief Minister) हेमंत सोरेन को कभी नहीं भुलेंगे. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री (Chief Minister) के इस कदम से लोगों में यह धारणा बनी है कि यह सरकार जो कहती है वह करती है. उन्होंने कहा कि पूर्व में भी कई सरकारों ने सरना धर्म कोड का वायदा किया था, लेकिन उनसभी ने वादाखिलाफी की.

डॉ0 उरांव ने कहा कि एक साल में कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा, इसके बावजूद राज्य सरकार (State government) ने प्रवासी श्रमिकों को हवाईजहान, ट्रेन और बस से घर वापस पहुंचाने का काम किया, सभी को खाद्यान्न उपलब्ध कराने का काम किया. अब 15 लाख लोगों को राशन कार्ड से जोड़ रहे है. शेष बचे गये लोगों को भी सर्वव्यापी खाद्य सुरक्षा योजना के तहत अनाज उपलब्ध कराया जाएगा. उन्होंने बताया कि 2007 में जब केंद्र की यूपीए सरकार ने इस योजना को लागू किया था, तो वे भी सांसद (Member of parliament) के रूप में संसद में उपस्थित थे. यूपी सरकार ने आदिवासियों को वन भूमि का पट्टा देने का काम किया, पिछली सरकार ने इस पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया, लेकिन राज्य सरकार (State government) इस दिशा में प्रयासरत है, आज भी कई जिलों में वनपट्टा दिया जा रहा है. उन्होंने कहा कि जनता ने जिस विश्वास के साथ गठबंधन सरकार को समर्थन दिया है, उन्हें कभी निराश नहीं होने दिया जाएगा, हेमंत सोरेन भविष्य में भी सदा मुख्यमंत्री (Chief Minister) बने रहे, इन्हीं कामनाओं के साथ डॉ. रामेश्वर उरांव ने अपने वक्तव्य को समाप्त किया.

Please share this news