Friday , 16 April 2021

जिले में बढते कोरोना के मरीज संक्रमण जांच अभियान हो तेज़

बुरहानपुर (Burhanpur) . 6 माह की लापरवाही और अनदेखी के बीच कोरोना संक्रमण की नए रूप में वापसी ने सभी को सकते में डाल दिया है. प्रशासन संक्रमण को लेकर अर्लट मोड पर है, मास्क सेनीटाईजर और दो गज दूरी के फार्मूले को लेकर फिर लोगों में जागृति फैलाने में जुट गया है.

सीमा पर प्रवेश से पूर्व र्थमल स्क्रीनिंग आदि जैसे फार्मूले संक्रमण फैलने को रोकने को लेकर मददगार तो हो सकते है पर अब जरूरी यह भी हो गया है कि जांच अभियान भी तेजी के साथ चलाया जाऐ ताकि नए मरीज जल्द सामने आ सकें इस में अगर देरी की गई तो संक्रमितो की संख्या बढने और फिर उसे संभालने में भारी परेशानीयों का सामना करना पडेगा. पिछले दो दिनों में यह आकंडा बहुत तेजी से सामने आया है जिले में एक्टीव मरीजो की संख्या 33 तक पहुंच चुकी है, सार्वजनिक स्थानो जैसे बसों, बाजार, अस्पताल आदि में दो गज की दूरी के सिद्धांत पर अब भी अमल नही हो रहा है जिस से मास्क और सेनिटाईजर के बाद भी एक दूसरे के सम्र्पक में आने से संक्रमण अपने पांव पसारने में देर नही करेगा. इस के लिए अब यह भी अवश्यक है कि कोरोना संक्रमण जांच को अभियान के रूप में चलाकर अधिक जांच की जाऐ.

महाराष्ट्र (Maharashtra) और मध्य प्रदेश की सीमाओं पर बहुत सख्ती बर्ती जाए तो जिले को सुरक्षित रखा जा सकता है इसी के साथ जहां महाराष्ट्र (Maharashtra) सीमा पर जांच दल बैठाकर स्के्रनिंग की जा रही है ठीक उसी प्रकार रेलवे (Railway)स्टेशन से आने वाले मरीजो की भी स्टेशन पर स्के्रनिंग कर महाराष्ट्र (Maharashtra) से शहर में पहुंचने वालों का रिकार्ड रखा जाऐ ताकि उनकी निगरानी भी हो, अन्यथा गत वर्ष की तरहां शहर फिर एक बार संक्रमण की चपेट में होगा जिस के लिए जिला कलेक्टर (Collector) को इस ओर ध्यान देना चाहिए.

Please share this news