Monday , 28 September 2020

सत्ता प्राप्ति हमारा लक्ष्य नहीं, बीजेपी चीफ का यूपी की नई टीम को मंत्र : नड्डा


लखनऊ (Lucknow) . भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने कहा, ‘‘सत्ता प्राप्ति हमारा लक्ष्य नहीं है. हमारे लिए सत्ता सामाजिक परिवर्तन के साथ गरीब, किसान, मजदूर के आर्थिक सामाजिक तथा राजनीतिक उत्थान का माध्यम मात्र है.’’ उन्होंने नवगठित प्रदेश पदाधिकारियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि यह पद नहीं, बल्कि जिम्मेदारी है. उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से संगठन को और मजबूत बनाने का आह्वान किया. उन्होंने सत्ता को सामाजिक परिवर्तन और गरीबों, किसानों तथा मजदूरों के आर्थिक, सामाजिक और राजनीतिक उत्थान का जरिया मात्र करार दिया.

नड्डा ने पार्टी की उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) इकाई के नवनियुक्त पदाधिकारियों तथा क्षेत्रीय अध्यक्षों के साथ वीडियो कांफ्रेंस के जरिये परिचयात्मक बैठक में यह बात कही. सभी प्रदेश पदाधिकारियों को नियमित प्रवास करके संगठन को मजबूत करना है. इसके साथ ही बूथ की गतिविधियों और आगे बढ़ाने का काम भी करना है. नड्डा ने कहा कि उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) संगठनात्मक दृष्टि से बहुत मजबूत है. पूरे देश में पार्टी के सबसे अधिक सक्रिय सदस्य तथा साधारण सदस्य उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) से हैं. उन्होंने आईटी क्षेत्र के लिए कई सुझाव दिये. साथ ही सांसदों, विधायकों तथा जनप्रतिनिधियों के विचारों को भी सोशल मीडिया (Media) के विभिन्न प्लेटफार्म पर प्रसारित करने का सुझाव दिया. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के उपलक्ष्य में 14 से 20 सितम्बर तक सेवा सप्ताह के तहत सभी जिला, मण्डल, सेक्टर तथा बूथ पर कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे. उन्होंने कहा कि 25 सितम्बर पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जन्म जयन्ती से लेकर दो अक्टूबर महात्मा गांधी की जयन्ती के उपलक्ष्य में मनाये जाने वाले सभी कार्यक्रमों के लिए बैठक कर रूपरेखा तैयार कर ली गई है.

प्रदेश के मुख्यमंत्री (Chief Minister) योगी आदित्यनाथ ने इस मौके पर कहा कि भाजपा केवल राजनीतिक दल नहीं बल्कि मातृभूमि के प्रति समर्पण व सेवाभाव का एक महत्वपूर्ण उदाहरण पेश करने वाले कार्यकर्ताओं की टीम है. उन्होंने कहा कि स्वाभाविक रुप से जब एक ओर भारत अपनी मजबूत पकड़ के साथ दुनिया में आगे बढ़ रहा है. उन्होंने कहा, ‘‘ऐसे बहुत लोग है जिन्हें भारत की प्रगति, समृद्धि और भारत का वह विराट स्वरूप जो दुनिया को मार्गदर्शन देने की स्थिति में है, अच्छा नहीं लग रहा है.’’ योगी ने कहा, ‘‘वे नकारात्मक लोग जिस तरह की व्यक्तिगत टिप्णियां करते हैं.

जाति, भाषा, क्षेत्र के नाम पर इस विराट स्वरुप को तमाम तरीकों से तोड़ने के जो कुत्सित प्रयास होते हैं. इससे पार्टी के हर कार्यकर्ता और पार्टी पदाधिकारी को सावधान रहना होगा.’’ इसके पूर्व, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने बैठक में कहा कि आगामी दिनों में प्रदेश की आठ विधानसभा सीटों के उपचुनाव के साथ ही स्नातक तथा शिक्षक विधान परिषद चुनाव, पंचायत चुनाव के साथ ही गन्ना समिति के चुनावों के लिए प्रदेश संगठन कमर कस चुका है.