Saturday , 5 December 2020

सभा में सहयोगी दल का चुनाव चिन्ह भूले सुशील मोदी

– जब उन्हें चुनाव चिन्ह बताया तब जाकर मोदी वोट की अपील कर पाए

पूर्णिया . बिहार (Bihar) विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) में एनडीए गठबंधन के नेता एक साथ चुनाव प्रचार कर रहे हैं. भाजपा के व‎रिष्ठ नेता अपने सहयोगी दलों के चुनाव चिह्न भूल गए. पूर्णिया में भी कुछ ऐसा ही हुआ यहां एनडीए की चुनावी सभा हो रही थी, तब उप-मुख्यमंत्री (Chief Minister) और भाजपा नेता सुशील मोदी अपने गठबंधन के सहयोगी दल पार्टी का चुनाव चिह्न ही भूल गए. पूर्णिया में बिहार (Bihar) के उप-मुख्यमंत्री (Chief Minister) सुशील मोदी और शाहनवाज हुसैन चुनावी सभा करने पहुंचे थे. एनडीए समर्थित उम्मीदवारों के पक्ष में वोट मांग रहे थे. हैरत तब हुई जब वो पूर्णिया के कस्बा से एनडीए समर्थित हम उम्मीदवार राजेंद्र यादव के पक्ष में वोट मांगने के लिए भरी सभा में मंच पर उससे उनका चुनाव चिन्ह पूछने लगे बीच सभा में ही राजेन्द्र यादव ने जब उन्हें अपना चुनाव चिन्ह बताया तब जाकर सुशील मोदी वोट की अपील कर पाए.

अब इस पर राजनीतिक विश्लेषक ये सवाल उठा रहे हैं कि क्या एनडीए के घटक दल के चुनाव चिन्ह से वाकिफ नहीं है बिहार (Bihar) के उप मुख्यमंत्री (Chief Minister) सुशील मोदी. घटक दल जेडीयू के खाते वाली हम है इसलिए खासी दिलचस्पी नहीं है. हालांकि बताया जा रहा है कि अभी तक हम का चुनाव चिह्न टेलीफोन था, मगर इस बार कड़ाही हो गया है. इसी वजह से यह गलती हुई. सुशील मोदी के रैली के बीच हम का चुनाव चिह्न भूल जाने के वाकये पर कांग्रेस ने चुटकी ली है. पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता वीके ठाकुर ने कहा कि चुनावी मंच से सुशील मोदी द्वारा हम उम्मीदवार से चुनाव चिह्न पूछना बताता है कि कि एनडीए के घटक दल एक दूसरे को कितनी गंभीरता से ले रहे हैं.