Friday , 14 May 2021

सीएचसी किशनी में जांच के दौरान अस्सी में छह कोरोना पॉजिटिव

मैनपुरी( ).किशनी वैश्विक महामारी (Epidemic) कोरोना ने अब धीरे धीरे ग्रामीण आंचल की ओर भी अपने पैर पसारना शुरू कर दिया है. बाबजूद इसके अब भी लोग इसे सिर्फ मजाक के तौर पर ले रहे हैं. येसे लोग मास्क सिर्फ पुलिस (Police) को सामने देख कर ही पहनते है.

कोरोना से लापरवाही का रिर्टनगिफ्ट अब क्षेत्रवासियों को कोरोना संक्रमण के तौर पर मिलना शुरू हो चुका है. इसक्रम में रविवार (Sunday) को तेरह लोग तथा सोमवार (Monday) को बावन लोगों की जांच में छह लोग कोरोना संक्रमित पाये गये. सोमवार (Monday) को सीएचसी में जांच के दौरान कस्बे के बार्ड संख्या सात निवासी गिरीशचन्द्र,मनिगांव के महिपाल,हरीसिंहपुर के राजकुमारी,अरून कुमार तथा,मोहिनी और अजयबाबू एसडीएम स्टैनो कोरोना पॉजिटिव पाये गये. सोमवार (Monday) को कोरोना पॉजिटिव पाये गये लोगों को आइसोलेट करने के लिये सीएचसी से दो टीमों को गांवों में रवाना किया गया. डा0 अंजना कठेरिया के नेतृत्व में एक टीम किशनी के गांव नगला सुखे गई जहां उन्होंने कवि वलराम श्रीवास्तव तथा उनके ड्रायवर सौरभ को होमआयसोलेट कर जरूरी हिदायतें दी. कस्बे के एक ही स्थान पर रहने बाले शैलेष पाठक तथा अजीत कुमार को भी होम आयसोलेट किया. इसके बाद वह गांव जटपुरा गई और कोरोना पॉजिटिव अमित को घर में आवश्यक सुबिधायें न होने पर मैनपुरी रैफर कर दिया.

उन्होंने जटपुरा में 25 लोगों की आरटीपीसीआर पद्यति से जांच की जिसकी रिपोर्ट 36 घंटों के बाद मिल सकेगी. दूसरी टीम में डा0 शरद यादव अपनी टीम के साथ रम्पुरा मनिगांव निवासी कमलेश,मधुपुरी निवासी आशाराम तथा धर्मेन्द्र के यहां गये और सभी को होम आयसोलेट की सलाह दी. जबकि शमशेरगंज निवासी आशीष मिश्रा को मैनपुरी रैफर कर दिया. उन्होंने मनिगांव में 32,मधुपुरी में 30 तथा शमशेरगंज में 35 लोगों का कोरोना टेस्ट किया. चिकित्सा अधीक्षक डा0 प्रदीप गुप्ता का कहना है कि इलाज से बचाव ज्यादा अच्छा है. इसलिये बेहतर होगा कि सभी लोग शासन और प्रशासन की गाइडलाइन का सम्मान करें और उसी के अनुरूप चलें. बिना काम के घर से बाहर न निकलें तथा जरूरी होने पर बिना मास्क घर से निकलने की भूल न करें.

 

Please share this news