Monday , 30 March 2020
लॉकडाउन में गरीबों को राहत के लिये कारगर उपाय घोषित करे सरकार: येचुरी

लॉकडाउन में गरीबों को राहत के लिये कारगर उपाय घोषित करे सरकार: येचुरी


नई दिल्ली (New Delhi) . माकपा ने कोरोना के संकट के मद्देनजर पूरे देश में तीन सप्ताह के लिए घोषित बंद (लॉकडाउन) के दौरान गरीबों की मदद के लिए सरकार (Government) द्वारा कारगर उपायों की घोषणा नहीं होने की निराशा प्रकट कर जरूरतमंद लोगों को राहत के लिए कार्ययोजना घोषित करने की मांग की है. माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार (Tuesday) को देशव्यापी लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा की लेकिन संकट की इस घड़ी में गरीबों की मदद के लिये किसी प्रकार की सहायता योजना का जिक्र नहीं किया, यह दुखद है. उन्होंने मंगलवार (Tuesday) को प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर कहा, गरीबों और जरूरतमंदों की मदद के लिये कोई घोषणा नहीं किया जाना बेहद दुखद है.’’

येचुरी ने कहा कि लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान होने वाली परेशानियों से राहत के लिए जिन्हें तत्काल मदद की दरकार है, उनके लिए सरकार (Government) ने कोई कारगर घोषणा नहीं की है. येचुरी ने पत्र में गांधी के उस मंत्र का जिक्र किया जिसमें उन्होंने कहा था कि ‘‘कोई भी काम करने से पहले उस व्यक्ति का चेहरा याद करके खुद से यह सवाल पूछो कि जो कदम आप उठाने जा रहे हैं, उससे क्या उस व्यक्ति का कोई लाभ होगा जिसे आपने अपने जीवन में सर्वाधिक निर्धन और कमजोर व्यक्ति के रूप में देखा है.’’

उन्होंने कहा कि अचानक घोषित हुए लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान सरकार (Government) ने कम आय वर्ग वाले उन लोगों की मदद के लिये कुछ नहीं किया जो रोजी-रोटी की खातिर दूसरे शहरों में रह रहे हैं. माकपा नेता ने कहा कि इनमें से अधिकांश लोग अब भोजन और अन्य मूलभूत जरूरतों के बिना बीच भंवर में फंस गये है. इसका जवाब कोई नहीं दे रहा है. उन्होंने सरकार (Government) से यथाशीघ्र जरूरतमंद लोगों, खासकर शहरी क्षेत्रों में प्रवासी श्रमिकों की अनिवार्य जरूरतों की पूर्ति में मदद के लिए कार्ययोजना घोषित कर इस लागू करने की मांग की.