वैक्सीनेशन का वर्ल्ड रिकॉर्ड बर्थडे पर एक दिन में 2.5 करोड़ टीके भारत ने चीन को पीछे छोड़ा – Daily Kiran
Saturday , 23 October 2021

वैक्सीनेशन का वर्ल्ड रिकॉर्ड बर्थडे पर एक दिन में 2.5 करोड़ टीके भारत ने चीन को पीछे छोड़ा

नई दिल्ली (New Delhi) . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के जन्मदिन पर देश में कोरोना टीकाकरण के अब तक के सारे कीर्तिमान टूट गए हैं. शुक्रवार (Friday) को लगभग रिकॉर्ड 2.50 करोड़ से अधिक टीके लगाए गए. एक दिन में 2.50 करोड़ से अधिक कोरोना वैक्सीन एक तरह से पीएम मोदी को बर्थडे गिफ्ट है. इससे पूर्व एक दिन में 1.33 करोड़ टीके लगाने का रिकॉर्ड बना था. भारत की इस उपलब्धि ने चीन को भी पीछे छोड़ दिया है, जिसने एक दिन में करीब 2.47 करोड़ टीके लगाए थे. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि शुक्रवार (Friday) को वैक्सीन सेवा अभियान के तहत शाम पांच बजे तक दो करोड़ टीका लगाने का लक्ष्य हासिल कर लिया गया. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने वैक्सीन सेवा अभियान का जायजा लेने के लिए दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल का दौरा भी किया. जिस वक्त वह अस्पताल में टीकाकरण कार्यक्रम का जायजा ले रहे थे, उसी समय देश ने दो करोड़ टीके का आंकड़ा पार कर लिया. मंडाविया ने इस उपलब्धि पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए सभी स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को इसके लिए धन्यवाद दिया और कहा कि उनके प्रयासों से ही देश ने यह उपलब्धि हासिल की है. मंडाविया ने इस मौके पर स्वास्थ्यकर्मियों का मुंह मीठा भी कराया. इससे पूर्व दिन में मंडाविया ने ट्वीट कर कहा कि ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) जी के जन्मदिवस पर देश ने दोपहर 1:30 बजे तक अब तक सबसे तेज, एक करोड़ खुराकें देने का आंकड़ा पार कर लिया है और हम निरंतर आगे बढ़ रहे हैं.

मंडाविया ने गुरुवार (Thursday) को कहा था कि जिन्होंने टीके की खुराक नहीं ली है, वे शुक्रवार (Friday) को मोदी जी के जन्मदिन पर अपने परिजनों और समाज के सभी तबकों को टीका लगवाकर प्रधानमंत्री को उपहार दें. बता दें कि विगत 27 और 31 अगस्त को देश में एक करोड़ से अधिक लोगों को खुराकें दी गई थीं. विभिन्न खबरों के अनुसार, इससे पहले दैनिक खुराक का रिकॉर्ड चीन ने बनाया था, जहां जून में 2.47 करोड़ टीके लगाए गए थे. शुक्रवार (Friday) सुबह तक की स्थिति के अनुसार, 18 साल से अधिक आयु के 20 फीसदी लोगों का पूर्ण टीकाकरण हो चुका है. यानी वे दोनों खुराक ले चुके हैं. जबकि 62 फीसदी वयस्क आबादी को एक खुराक (78 करोड़ खुराक) मिल चुकी है. अक्तूबर के अंत तक सभी 94 करोड़ वयस्कों को टीके की एक खुराक देने का लक्ष्य है तथा दिसंबर अंत या जनवरी तक सभी वयस्क आबादी को दोनों खुराक देने की कोशिश की जाएगी. इसी प्रकार चुनाव वाले राज्यों- उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब (Punjab) आदि में लोगों को जल्द से जल्द टीके की कम से कम एक खुराक देने के प्रयास किए जा रहे हैं. टीके की उपलब्धता बढ़ी है तथा अगले महीने से जायडस कैडिला का टीका भी उपलब्ध हो जाएगा तथा स्पूतनिक की आपूर्ति बढ़ेगी. फिलहाल तीन कंपनियों के टीके लग रहे हैं छह कंपनियों के टीकों को अभी तक मंजूरी दी जा चुकी है.

Please share this news

Check Also

ममता के वित्तमंत्री को आरोप, डर के कारण 6 साल में 35,000 कारोबारी देश छोड़कर जा चुके

कोलकाता (Kolkata) .बंगाल की ममता सरकार में वित्त मंत्री अमित मित्रा ने मोदी सरकार पर …