विश्व बैंक समूह ने अपनी कारोबारी सुगमता रिपोर्ट बंद करने का फैसला ‎किया – Daily Kiran
Thursday , 28 October 2021

विश्व बैंक समूह ने अपनी कारोबारी सुगमता रिपोर्ट बंद करने का फैसला ‎किया

नई ‎दिल्ली . विश्व बैंक (Bank) समूह ने अनियमितताओं के आरोपों के बाद विभिन्न देशों में निवेश के माहौल पर अपनी कारोबारी सुगमता रिपोर्ट का प्रकाशन बंद करने का फैसला किया है. चीन के वरीयता क्रम को बढ़ाने के लिए 2017 में कुछ शीर्ष बैंक (Bank) अधिकारियों द्वारा कथित रूप से दबाव बनाने के कारण डेटा अनियमितताओं की जांच के बाद यह निर्णय लिया गया. विश्व बैंक (Bank) समूह ने कहा ‎कि पिछली समीक्षाओं के निष्कर्षों, ऑडिट और बैंक (Bank) के कार्यकारी निदेशक मंडल की ओर से जारी रिपोर्ट सहित कारोबारी सुगमता पर अब तक उपलब्ध सभी सूचनाओं की समीक्षा करने के बाद विश्व बैंक (Bank) समूह प्रबंधन ने कारोबारी सुगमता रिपोर्ट को बंद करने का फैसला किया है. समूह विकास में निजी क्षेत्र की भूमिका को आगे बढ़ाने और सरकारों को समर्थन देने के लिए प्रतिबद्ध है.

आगे हम व्यापार और निवेश के माहौल का आकलन करने के लिए एक नए नजरिए पर काम करेंगे. हम अपने उन कर्मचारियों के प्रयासों के लिए अत्यधिक आभारी हैं, जिन्होंने व्यापार जलवायु एजेंडा को आगे बढ़ाने के लिए परिश्रमपूर्वक काम किया है. हम उनकी ऊर्जा और क्षमताओं का नए तरीकों से उपयोग करने के लिए तत्पर हैं. विश्व बैंक (Bank) को कारोबारी सुगमता रिपोर्ट 2018 और 2020 में डेटा अनियमितताओं की जानकारी जून 2020 में आंतरिक रूप से पता चली थी. इसके बाद विश्व बैंक (Bank) प्रबंधन ने अगली कारोबारी सुगमता रिपोर्ट का प्रकाशन रोक दिया और इसकी कार्यप्रणाली की समीक्षा शुरू की. वर्ष 2020 की कारोबारी सुगमता रिपोर्ट में भारत ने 14 स्थान की छलांग लगाकर 63वां स्थान हासिल किया था. भारत ने पांच वर्षों यानी 2014-19 में अपने वरीयता क्रम में 79 स्थानों का सुधार किया है.

Please share this news

Check Also

आरबीआई ने बलदेव प्रकाश को बनाया जेके बैंक का एमडी, सीईओ

नई दिल्ली (New Delhi) . भारतीय रिजर्व बैंक (Bank) (आरबीआई (Reserve Bank of India) ) …