महिलाएं काबिलियत साबित करें, हक जताएं, बताएं और जरूरत हो तो छीन लें : मेहता

रोटरी क्लब ऑफ उदयपुर (Udaipur) मीरा का अनूठा आयोजन : दो दिवसीय ‘संगिनी-कॉन्फेंस फ़ॉर वीमेन’ का उद्घाटन

उदयपुर (Udaipur). रोटरी इंटरनेशनल के 2021-22 के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष शेखर मेहता ने कहा कि मौजूदा दौर में हमें महिला सशक्तीकरण की जरूरत नहीं है क्योंकि वे खुद सशक्त हैं. मैं जीवन के हर क्षेत्र में महिलाओं को बुलंदियां छूते हुए, एम्पावर्ड होते हुए और लीडरशिप की पॉजिशन में देखना चहता हूं. वे अपनी काबिलियत साबित करें, अपना हक जताएं, बताएं और जरूरत हो तो छीन लें. अब जमाना महिलाओं का है और घर, परिवार व समाज में उनकी अभूतपूर्व भागीदारी को सम्मान देने, उन्हें नमन करने का है. मेहता ने यह विचार बतौर मुख्य अतिथि रोटरी क्लब ऑफ उदयपुर (Udaipur) मीरा की ओर से रोटरी डिस्ट्रिक्ट-3054 के तत्वावधान में शनिवार (Saturday) को उदयपुर (Udaipur) के लाभगढ़ पैलेस रिसोर्ट में शुरू हुई दो दिवसीय ‘संगिनी-कॉन्फेंस फ़ॉर वीमेन’ के उद्घाटन समरोह में व्यक्त किए. शेखर मेहता, क्लब की फस्र्ट लेडी राशि मेहता, डिस्ट्रिक्ट गवर्नर डॉ राजेश अग्रवाल सहित अन्य अतिथियों ने देशभर से आए क्लब के सदस्यों व पदाधिकारियों की मौजूदगी में दीप प्रज्वलित कर समारोह का उद्घाटन किया.

प्रवक्ता सुषमा कुमावत ने बताया कि संगीनी कॉन्फ्रेंस में दो दिन तक महिला सशक्तीकरण की विभिन्न थीम्स पर कई आयोजन होंगे. संगीनी कार्यक्रम की चेयरमैन मधु सरीन, आयोजन सचिव प्रीति सोगाणी, रोटरी क्लब मीरा की अध्यक्षा विजयलक्ष्मी गलुण्डिया, सचिव संगीता मूंदरा की विशेष उपस्थिति में यह आयोजन हो रहा है. इससे पूर्व प्रीति सेगाणी ने रोटरी क्लब ऑफ उदयपुर (Udaipur) मीरा की विभिन्न गतिविधियों, उपलब्धियों से ओतप्रोत एक लघु फिल्म दिखाते हुए जानकारियों से रूबरू करवाया. स्वगत भाषण मधु सरीन ने दिया जबकि धन्यवाद क्लब अध्यक्षा विजयलक्ष्मी गलुंडिया ने दिया. इस अवसर पर क्लब की डायरेक्टरी का भी विमोचन किया गया.

मुख्य अतिथि शेखर मेहता ने कहा कि लेडीज फस्र्ट की मानसिकता को त्याग दीजिए, क्योंकि वो तो अब बराबरी पर खड़ी हैं. वास्तव में तो जीवन के कई क्षेत्रों में पुरुषों से आगे बढ़ चुकी हैं. अब जरूरत है घर, परिवार और समाज में महिलाओं के प्रति मानसिकता को पूरी तरह से बदलने व महिलाओं को हर स्तर पर सम्मान देने का. रोटरी क्लब ने विश्व के 200 से ज्यादा देशों में फैले अपने संगठन में हर दस्तर पर महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चत की है.

डिस्ट्रिक्ट गवर्नर डॉ राजेश अग्रवाल ने कहा कि महिलाएं मानसिक रूप से दृढ़ हैं. पोलिटिकल, कॉरपोरेट सहित सभी स्थानों पर अपनी छाप छोड़ी है. इस तरह की कॉन्फ्रेंस के माध्यम से महिलाओं को खुद को जानने, अभिव्यक्त करने और नए अवसर बनाने का मौका मिलता है.  आयोजन सचिव प्रीति सोगानी ने कहा कि महिलाएं अपने आत्मबल से आकाश छू सकती हैं. राशि मेहता ने रोटरी प्रान्त की नई सदस्याओं को शपथ दिलाई.

अदम्य इच्छाशक्ति से हासिल किए बड़े मुकाम : प्रीतम गोस्वामी

दूसरे सत्र में मुख्य वक्ता के रूप में इंटरनेशनल मोटीवेटर प्रीतम गोस्वामी ने पॉवर प्वाइंट प्रजेंटेशन देकर बताया कि किस प्रकार सामान्य पृष्ठभूमि की महिलाएं भी अपनी अदम्य इच्छा शक्ति से बड़ा मुकाम हासिल कर सकती हैं. कामकाजी जीवन के साथ ही पारिवारिक जीवन को बैलेंस करने में महिलाएं जो संवेदनशीलता दिखाती हैं उसका कोई सानी नहीं है.

आइस ब्रेकिंग-यू केन डू इट : डॉ. अनुराधा टोते

इंटरनेशनल लाइफ कोच, मोटीवेशनल स्पीकर, कॉरपोरेट ट्रेनर डॉ. अनुराधा टोते ने कहा कि महिलाएं अपने दायरों का विस्तार करें व अपनी क्षमताओं का भरपूर उपयोग करते हुए सफलता के नए शिखर छुएं. स्माइल, हैलो सहित कई साधारण बातों के साथ आप किसी से भी अपनी बातचीत की शुरूआत कर सकते हैं. आइस ब्र्रेकिंग का मतलब है अपनी झिझक को तोड़ कर आगे बढऩा. जब भी अनजाने से मिलें तो स्माल देकर कॉन्फिडेंस के साथ बात करें, उनकी सफलता से सीखने की कोशिश करें व अपनी पर्सनेलिटी में उनके गुणों को जोड़ते चले जाएं.

13 विशिष्ट प्रतिभाओं का सम्मान

इस अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों में विशिष्ट योगदान देने वाली राजस्थान (Rajasthan)और गुजरात (Gujarat) की विशिष्ट प्रतिभाओं का सम्मान किया गया. सम्मानित होने वालों में यशीता जैन, पुलिस (Police) अधिकारी चेतना भाटी, डॉ नूतन कनिटकर, डॉ. रीना राठौड़, अंशु डांडिया, रूचिका भारद्वाज, गौरवी सिंघवी, राजुलबेन देसाई, मित्तल मौलिक पटेल, निपा पटेल, पूजा शुक्ला, रेनु हेड़ा,मीरा डामोर शामिल हैं.

 

Please share this news