लखीमपुर घटना को लेकर आखिर क्यों इतना उछल रहे हैं भाई-बहन: सिद्धार्थ नाथ सिंह – Daily Kiran
Thursday , 9 December 2021

लखीमपुर घटना को लेकर आखिर क्यों इतना उछल रहे हैं भाई-बहन: सिद्धार्थ नाथ सिंह

लखनऊ (Lucknow) . उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) सरकार के प्रवक्ता और काबीना मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने लखीमपुर खीरी में हुई घटना को लेकर कांग्रेस पार्टी तथा उसके नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पर जमकर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि जब लखीमपुर प्रकरण में किसान यूनियन के एक नेता ने स्वयं आकर संयुक्त प्रेस वार्ता की, प्रशासन और किसानों के बीच जो समझौता हुआ है उससे वहां के सभी लोग खुश हैं और वहां पर एक शांति का माहौल बन रहा है लेकिन आप लोगों (विपक्ष) को वीडियो बना-बना कर सार्वजनिक करने और अनाप-शनाप बोलने की आदत हो गई है. उन्होंने कहा कि यह समझ में नहीं आ रहा है कि विपक्ष के लोग और विशेष रूप से कांग्रेस के दोनों भाई-बहन (राहुल गांधी-प्रियंका गांधी) इतना क्यों उछल रहे हैं.

योगी सरकार के प्रवक्ता सिंह ने बुधवार (Wednesday) को कांग्रेस नेता राहुल गांधी के लखीमपुर खीरी जाने के कार्यक्रम को राजनीतिक पर्यटन करार देते हुए कहा कि किसी को भी हालात बिगाड़ने नहीं दिए जाएंगे. उन्होंने संवाददाताओं से कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के लखीमपुर खीरी जाने के आज के कार्यक्रम के बारे में पूछे जाने पर कहा कि विपक्ष नकारात्मक रवैया दिखा रहा है और वह इस संवेदनशील मुद्दे पर राजनीति कर रहा है. उन्होंने कहा कि हालात को संभालने के लिए सरकार ने कानून के तहत कुछ कदम उठाए हैं और विपक्षी नेताओं से प्रार्थना भी की है कि वे लोग अभी लखीमपुर खीरी न जाएं. अगर वे जाना ही चाहते हैं तो कुछ दिन बाद चले जाएं. इन नेताओं के मृतक के परिवारों से मुलाकात पर सरकार को कोई आपत्ति नहीं है लेकिन किसी को भी माहौल बिगाड़ने की इजाजत नहीं दी जाएगी.

उन्होंने गांधी पर तंज करते हुए कहा कि आज कांग्रेस के नंबर वन परिवार के एक और युवराज को जोश आया कि बहन (प्रियंका गांधी) तो है ही, इसलिए हम भी राजनीतिक पर्यटन पर निकलेंगे. मगर युवराज यह भूल जाते हैं और इतिहास गवाह है कि इस आजाद देश में कभी नरसंहार हुए हैं तो वे कांग्रेस के शासनकाल में ही हुए हैं. उन्होंने वर्ष 1984 में हुए सिख विरोधी दंगों का जिक्र करते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी कीहत्या (Murder) के बाद सिख समुदाय के खिलाफ नरसंहार किया गया. भाजपा उस समय उन लोगों के साथ खड़ी थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) जब सिख समुदाय के लिए संशोधित नागरिकता कानून लेकर आए तो कांग्रेस ने उसके खिलाफ अभियान चलाया. इस कानून का ज्यादातर फायदा सिख समुदाय को ही होने वाला है.

सिद्धार्थ नाथ सिंह ने सीतापुर में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा को हिरासत में रखे जाने वाले स्थल पर ड्रोन तैनात किए जाने के आरोप के बारे में कहा कि अरे तकनीक है, तकनीक का तो हर जगह इस्तेमाल होता है. आप अगर 20वीं सदी में अभी भी रहना चाहते हैं तो रहिए. उन्होंने दावा किया कि लखीमपुर खीरी हिंसा में मारे गए किसानों के परिवारों ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट को स्वीकार किया है एक परिवार को संदेह हुआ तो सरकार ने तुरंत दोबारा पोस्टमार्टम कराया, सरकार पूरी पारदर्शिता के साथ काम करते हुए मामले की तह तक पहुंचेगी. विदित हो कि लखीमपुर खीरी जिले में गत रविवार (Sunday) को हुई हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गयी थी. इस घटना के बाद कांग्रेस सहित समूचे विपक्ष के नेताओं ने लखीमपुर जाने का प्रयास किया था लेकिन सरकार ने किसी को भी वहां नहीं जाने दिया था. लेकिन अब जबकि इस घटना में मारे गये सभी आठों लोगों का अंतिम संस्कार हो गया है तब सरकार ने वहां जाने की अनुमति विपक्षी नेताओं को दे दी है.
 

Check Also

ट्राई ने नंबर पोर्ट कराना और ज्यादा आसान किया

मुंबई (Mumbai) .टेलिकॉम कंपनियों ने अपने प्रीपेड प्लान को पहले के मुकाबले काफी महंगा कर …