Thursday , 6 August 2020
हम जीवन और आजीविका बचाने में और बीजेपी सरकार गिराने में लगी हुई है- मुख्यमंत्री गहलोत

हम जीवन और आजीविका बचाने में और बीजेपी सरकार गिराने में लगी हुई है- मुख्यमंत्री गहलोत

जयपुर . मुख्यमंत्री गहलोत ने शनिवार को प्रेस वार्ता को संबोधित किया. राजस्थान सरकार ने कोरोना से जंग में सभी पार्टियों को साथ रखा. कोरोना महामारी कोई राजनीतिक लङाई नहीं है. देश प्रदेश की अर्थव्यवस्था बर्बाद हो चुकी है. हम कोरोना से जंग में लगे हुए हैं. रोज वीसी करते हैं. हर वर्ग से वीसी के बातचीत कर रहे हैं. बीजेपी के लोगों को भी साथ लेकर चले. बीजेपी नेताओं ने मानवता की सारी हदें पार कर दी हैं. एक तरफ हम जीवन और आजीविका बचाने में लगे हैं. वहीं, ये लोग सरकार गिराने में लगे हुए हैं.

उन्होंने कहा कि मुझे, मेरे साथीगणों को, कांग्रेस नेताओं को सभी को सरकार बचाने के लिए संघर्ष करना पड़ता है.वहीं ये लोग सरकार किस तरह से गिरे, खरीद फरोख्त कैसे हो के तमाम कामों में लगे हुए हैं. बीजेपी के नेताओं  में 2014 के बाद अहंकार आ गया है,अब ये खुलकर देश के सामने आ गए हैं. धर्म,जाति के नाम पर लोकतंत्र की हत्या करने में लगे हुए हैं.

विभिन्न प्रदेशों में जब जब इन्हें मौका लगा चाहे वो गोवा या मणिपुर हो, वहां इन्होंने कांग्रेस की सरकार नहीं बनने दी.अरुणाचल प्रदेश में 60 में से 35 विधायक कांग्रेस के थे,सारे विधायकों को इन्होंने खरीद लिया और बीजेपी की सरकार बना ली,जिससे पूर्व मुख्यमंत्री को सुसाइड करना पङा. उत्तरखंड में 5 मंत्री ऐसे हैं, जो कांग्रेस से गए. महाराष्ट्र में कमाल हो गया, बहुमत नहीं था, तब भी सुबह सुबह शपथ दिला दी गई. मोदी जी ने भी सुबह 7बजे बधाई का ट्वीट कर दिया. वहीं, देवेंद्र फडणवीस ने जवाब दिया मोदी है तो मुम्किन है. कर्नाटक में भी ऐसा ही हुआ, बिना बहुमतके शपथ दिला दी और खरीद फरोख्त करके सरकार बना ली . मध्यप्रदेश में सभी को मालूम है क्या हुआ.

मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि सतीश पूनिया, राजेंद्र राठौड केन्द्र सरकार ने इशारे पर सरकार गिराने के लिए जिस तरह का खेल कर रहे हैं. तमाम बातें जनता के सामने हैं और राजस्थान में जनता समझ गई है. ये लोग एडवांस में 10 करोड़ रुपये फिर सरकार गिर जाएगी तो 15 करोड़ रुपये  की बात कह रहे हैं. इस प्रदेश मे आज तक ये परंपरा नहीं रही है. राजस्थान में कभी हॉर्स ट्रेडिंग नहीं हुई. बीएसपी को लेकर लोग कमेन्ट करते हैं कि बीएसपी को आपने मिलाया. वो मर्ज हुए हैं,हमने हॉर्स ट्रेडिंग नहीं की. लेकिन जिस तरह से इन्होंने ये खेल खेला है वो सबके सामने हैं. राजस्थान में भी माहौल बनाया जा रहा है. जिस प्रकार मध्यप्रदेश मे घटना हुई है, वैसा ही राजस्थान मे हो जाए.

उन्होंने कहा कि राजस्थान में सरकार बदलती रहती है जनता का निर्णय शिरोधार्य. बकरा मंडी में जिस प्रकार बकरे बिकते हैं,ये लोग इस प्रकार राजनीति करना चाहते हैं. इनकी बेशर्मी की हद है. ये इतने तिकङमी लोग हैं कि गुजरात में 7 विधायक खरीद कर 2सीटें जीत लीं. राजस्थान में इनकी चाल चलने नहीं दी. यहां 2 सीटें हमने जीत कर इन्हें सबक सिखाया लेकिन फिर भी ये माने नहीं. वापस अपने असली चेहरे पर आ रहे हैं. इतने सालों से कांग्रेस ने देश के लोकतंत्र को बचा कर रखा है. देश में अब जो हालात बना रखें हैं वो पहले ऐसे नहीं थे.

गहलोत कहा कि मेरा मानना है कि ये लोग कुछ भी कर ले. जनता को जब भी मौका मिला है उन्होंने सत्ता पलटने में देरी नहीं की है. 40 साल पहले ढाई साल में इंदिरा गांधी की सरकार बनी थी. आज मोदी और अमित शाह को घमंड है. टाइम आने पर देश की जनता इस घमंड को चकनाचूर कर देगी. सोनिया गांधी और राहूल गांधी विपक्ष के तौर पर सवाल उठाते हैं. उनका जवाब नहीं दे पातेज हैं बल्कि उन पर अटैक करने के लिए अपने नेता खड़े कर देते हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा राजस्थान में सरकार स्थिर रहेगी और अगले चुनाव जीतने की तैयारी शुरू कर दी है.