Wednesday , 16 June 2021

स्थानीय उपजों और गौठानों को विकसित करने से मजबूत होगी गांव की अर्थव्यवस्था: प्रदीप शर्मा

रायपुर (Raipur) (Raipur) . मुख्यमंत्री (Chief Minister) के सलाहकार प्रदीप शर्मा ने कहा है कि स्थानीय उपजों को ब्रांड और गौठानों को मल्टी एक्टीविटी सेंटर के रूप में विकसित करने से गांवों की अर्थव्यवस्था को और मजबूत किया जा सकता है. शर्मा कहा कि कोरबा जिला की स्थानीय वनोपज महुआ यहां पर्याप्त मात्रा में पाया जाती है. इसका उपयोग लड्डू, चॉकलेट औषधि तथा इससे निकलने वाले पौष्टिक खाद्य तेल के रुप में किया जाता हैं. इसे बहुपयोगी बनाकर, परिष्कृत करते हुए इसे छत्तीसगढ का ब्रांड भी बनाया जा सकता है. यह बात मुख्यमंत्री (Chief Minister) के सलाहकार योजना निधि कृषि एवं ग्रामीण विकास शर्मा ने कोरबा जिले के कटघोरा में पंचायत एवं वन विभाग द्वारा निर्माण कराये जा रहे नरवा के कार्यो एवं मृदा संरक्षण की संरचनाओं की समीक्षा एवं निरीक्षण के दौरान कही.

उन्होंने कहा कि कोरबा में बहुतायत में मिलने वाले कोयले की डस्ट का उपयोग भी गार्डनिंग डस्ट आदि में किया जा सकता हैं. शर्मा ने कहा कि गोधन न्याय योजना की पूरे देश में प्रशंसा हो रही हैं. इसे एक आदर्श योजना के रुप में जाना जा रहा हैं. इसका श्रेय सुनियोजित योजना एवं योजनाबद्ध तरीके से क्रियान्वयन को जाता है. उन्होंने जिले में नरवा-गरूवा-घुरूवा-बाड़ी एवं गोधन न्याय योजना के तहत किये गये कार्यों की सराहना की और कहा कि गौठानों को मल्टीएक्टीविटी सेंटर बनाया जाये जिससे ग्रामीणों की अजीविका संवर्धन हो सके तथा रुरल इंडस्ट्री पार्क बनाया जा सके. उन्होंने कहा कि ग्रीष्म ऋतु में तालाब, डबरी का पानी सूख कर कम हो जाता हैं, जिसमें जलीय तत्व की कमी आ जाती हैं. इस पानी को पीकर मवेशियों में प्रतिरोधक क्षमता की कमी या बीमारियाँ हो जाती हैं. इसलिए यह अति आवश्यक है कि सभी गौठानों में पशुओं के लिए शुद्ध पेय जल की समुचित व्यवस्था की जाये. वन विभाग द्वारा घने जंगलो में कराये जा रहे नरवा निर्माण कार्य के तहत वन्य क्षेत्रों में शलेम, सफेदमूसली, वच आदि औषधि लगाने की बात कही. नरवा निर्माण कार्य के तहत जनउपयोगी एवं पर्यावरण संरक्षण संबंधी संरचनाओं का निर्माण कराया जाये.

शर्मा ने आदर्श गौठान महोरा का निरीक्षण भी किया इस दौरान उन्होंने मुर्गी पालन कोषा धागा करण, अगरबत्ती निर्माण, दोना पत्तल निर्माण मशरुम उत्पादन करने वाली स्वसहयता समूह कि महिलाओं से चर्चा करके उनका उत्साहवर्धन किया. उन्होंने दूरस्थ वनांचल क्षेत्र ग्राम पंचायत केसलपुर में नरवा निर्माण के तहत मनरेगा से बनायी गयी संरचना, स्टाप डेम, लूजबोल्डर चेक डेम आदि का निरीक्षण किया उन्होंने लूजबोल्डर चेक डेम की साइड सलेक्शन एवं गुणवत्ता पूर्ण कार्य के लिए तकनीकी सहायक गंगा कंवर की प्रशंसा कर उत्साहवर्धन किया. इस अवसर पर कुंदन कुमार मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत कोरबा, श्रीमती प्रियंका पाण्डेय, वन मंडल अधिकारी कोरबा शमा फारूखी, वनमंडल अधिकारी कटघोरा सहित सभी जिला स्तरीय विभाग प्रमुख उपस्थित थे.

Please share this news