अरुण जेटली स्टेडियम में नकली आईडी प्रूफ से बुकी की एंट्री कराने के मामले में दो गिरफ्तार

नई दिल्ली (New Delhi) . दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में नकली आईडी प्रूफ से बुकी की एंट्री कराने के मामले में दो स्टाफ बालम और वीरेंदर शाह को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस (Police) को आईपीएल (Indian Premier League) में बेटिंग के पैन इंडिया माड्यूल होने का शक है. इस मामले में दिल्ली पुलिस (Police) की स्पेशल सेल ने बताया की डीडीसीए दोनों स्टाफ बालम और वीरेंदर शाह ने ही 60 हजार रुपये लेकर लेकर दोनों बुकी के लिए डीडीसीए के एंट्री पास बनवा दिए थे.

स्पेशल सेल सूत्रों के मुताबिक, आईपीएल (Indian Premier League) में सट्टेबाज़ी का यह एक पैन इंडिया मॉड्यूल हो सकता है. डीडीसीए के अधिकारियों से भी स्पेशल सेल ने पूछताछ की है. मिली जानकारी के अनुसार, डीडीसीए के अधिकारियों के साइन के बाद ही स्टेडियम में दाखिल होने के एंट्री पास बनाए जाते हैं.

इस मामले में अब तक कुल 4 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है. स्पेशल सेल सूत्रों के मुताबिक, आईपीएल (Indian Premier League) के दौरान अरुण जेटली स्टेडियम के अंदर से बेटिंग रैकेट चल रहा था, जिसमें पहले दो बुकी को गिरफ्तार किया गया था. पकड़े गए बुकी के मोबाइल फोन लोकेशन के मुताबिक, यह कई बार स्टेडियम के अंदर से आईपीएल (Indian Premier League) मैच में लाइव बेटिंग कर रहे थे.

एजेंसियों को शक है कि देशभर के बुकीज आपस में कई ऐप के जरिएआईपीएल (Indian Premier League) पर करोड़ों का सट्टा लगा रहे थे, क्योंकि बीसीसीआई ने भी मुंबई (Mumbai) -हैदराबाद में हुए आईपीएल (Indian Premier League) मैच में बेटिंग को लेकर बीसीसीआई की एंटी करप्शन ब्रांच से शिकायत की थी.

Please share this news