Wednesday , 25 November 2020

परिवहन मंत्री गहलोत ने 20 DTC महिला सुरक्षा वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया


नई दिल्ली (New Delhi) . दिल्ली के परिवहन मंत्री, कैलाश गहलोत ने महिला सुरक्षा एवं प्रवर्तन सम्बन्धी गतिविधि हेतु 20 मारुति ईको वैन के संचालन का उद्घाटन किया. साथ ही माननीय मंत्री ने डीटीसी के सरोजनी नगर डिपो में नए पुनर्निर्मित पास सेक्शन का भी उद्घाटन किया. इस अवसर पर डीटीसी के एमडी विजय कुमार बिधूड़ी, आईजीएल के एमडी ए.के.जाना और डीटीसी, आईजीएल एवं दिल्ली सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे. सार्वजनिक परिवहन से यात्रा करते समय महिला सुरक्षा इन दिनों एक प्रमुख चिंता का विषय है. डीटीसी दिल्ली में, दैनिक आधार पर 3762 सार्वजनिक परिवहन बसों का संचालन करती है, जिसके माध्यम से कई महिला यात्रियों (Passengers) सहित लाखों यात्री आवागमन करते हैं. बसों में यात्रा करते समय महिला सुरक्षा हेतु डीटीसी ने बसों में मार्शलों की तैनाती की है, जिसमें काफी संख्या में महिला मार्शल शामिल हैं, जो महिला यात्रियों (Passengers) के साथ-साथ उनके परिवारों को भी सुरक्षा का एहसास दिलातें हैं.

अपने प्रवर्तन तंत्र के साथ-साथ महिला सुरक्षा पहलुओं को और मजबूत करने के उद्देश्य से, DTC विशेष प्रवर्तन दल तैनात कर रहा है, जो टर्मिनलों और बस कतार आश्रयों पर विभिन्न मार्गों में बस चेकिंग का संचालन करेगा. ये वैन IGL द्वारा कॉर्पोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी (CSR) के तहत DTC को प्रदान की गई हैं. सभी डीटीसी बसों में पहले से ही सीसीटीवी, जीपीएस और पैनिक बटन लगाए जा रहे हैं. आपातकाल की स्थिति में पैनिक बटन दबाये जाने पर कमांड एंड कंट्रोल सेंटर (CCC) को एक सिग्नल चला जाएगा, जो स्थिति की नज़ाक़त के आधार पर ट्रैफिक पुलिस (Police), एम्बुलेंस, डिपो नियंत्रण कक्ष और फायर सर्विसेज आदि को सम्बंधित अलर्ट भेज देगा. इसके साथ ही डिपो कंट्रोल रूम तुरंत क्षेत्रीय नियंत्रण कक्ष के माध्यम से निकटतम ईको वैन को मौके पर भेजेगा. ईको वैन पर तैनात ट्रैफिक चेकिंग इंस्पेक्टर और मार्शल मौके पर पहुंचकर उचित कार्रवाई करेंगे. आपातकालीन कॉल / स्थितियों के अलावा, इन सभी वैन का उपयोग सड़क पर औचक निरीक्षण के माध्यम से परिचालन और महिला सुरक्षा की नियमित निगरानी के लिए भी किया जाएगा.

परिवहन मंत्री ने सरोजनी नगर डिपो में नए पुनर्निर्मित पास सेक्शन का भी उद्घाटन किया. सरोजिनी नगर स्थित इस पास सेक्शन में वातानुकूलित हॉल की सुविधा, गर्म और ठंडे पेयजल सहित ग्राहकों के लिए बैठने की पर्याप्त व्यवस्था उपलब्ध है. निगम के पास शहर भर में 40 पास अनुभाग हैं जिनमें से 39 पास अनुभाग कम्प्यूटरीकृत हैं. वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान कुल 12,49,745 पास जारी किए गए थे यानी हर महीने एक लाख से अधिक पास जारी किए जाते हैं. डीटीसी सामान्य पास, छात्रों को रियायती पास, शारीरिक रूप से अक्षम व्यक्तियों, स्वतंत्रता सेनानियों, अंतर्राष्ट्रीय खिलाडियों, राष्ट्रीय पुरस्कार विजेताओं, युद्ध विधवाओं और उनके आश्रितों आदि के लिए नि: शुल्क पास जारी करता है.

सरोजिनी नगर डिपो में इन 20 प्रवर्तन वाहनों और बस पास अनुभाग के उद्घाटन के दौरान, मंत्री ने कहा “मुझे ख़ुशी है कि दिल्ली सरकार, हमारे माननीय मुख्यमंत्री (Chief Minister) के नेतृत्व में, प्रवर्तन उपायों और महिला सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए लगातार प्रयास कर रही है. बस मार्शलों की तैनाती और सभी बसों में सीसीटीवी और पैनिक बटन स्थापित किया जा रहा. प्रवर्तन परिवहन का एक प्रमुख पहलू है, और जैसे ही हमारे कमांड सेंटर पूरी तरह कार्यात्मक हो जा रहे हैं, विशेष रूप से महिला सुरक्षा के लिए नामित ये वैन त्वरित कार्रवाई सुनिश्चित करने में एक त्वरित प्रतिक्रिया टीम के रूप में कार्य करेंगे.

उन्होंने आगे कहा “परिवहन विभाग लगातार अपने सभी बस-पास अनुभागों को कम्प्यूटरीकृत कर रहा है जिससे टिकट बुकिंग के स्मार्ट तरीकों को अपनाया जा सके और संपर्क रहित टिकटिंग सुविधा का और विस्तार किया जा सके. हम सभी आधुनिक सुविधाओं के साथ डिपो में बस पास अनुभागों का नवीनीकरण कर रहे हैं, हमारे सभी डिपो ऑनलाइन बस पास सुविधा को शुरू करने के लिए तैयार हैं, जो बस पास के लिए कैशलेस लेनदेन की दिशा में एक बड़ा कदम होगा.