Sunday , 11 April 2021

अतिशेष धान की नीलामी प्रक्रिया से अवगत हुए व्यापारी

बलौदाबाजार . अतिशेष धान की नीलामी प्रक्रिया की जानकारी देने हेतु राईस मिल, दाल मिल एवं चावल व्यापारियों की संयुक्त बैठक जिला पंचायत सभाकक्ष में संपन्न हुई. बलौदाबाजार-भाटापारा जिले की लगभग 3 लाख मीटरिक टन अतिशेष धान की बिक्री ई-नीलामी द्वारा करने का निर्णय राज्य सरकार (State government) द्वारा लिया गया है. ये धान जिले की सहकारी समितियों एवं उपार्जन केन्द्रों पर सुरक्षित रखे हुये हैं.

कलेक्टर (Collector) सुनील कुमार जैन ने पॉवर पाईन्ट प्रस्तुतीकरण के जरिये नीलामी की सम्पूर्ण प्रक्रिया की विस्तृत जानकारी दी. उन्होंने इससे जुड़ी व्यापारियों की जिज्ञासाओं का समाधान भी किया. इस अवसर पर जिला पंचायत की सीईओ डॉ.फरिहा आलम सिद्धिकी एवं संयुक्त कलेक्टर (Collector) एवं खाद्य शाखा की प्रभारी लवीना पाण्डेय सहित सैकड़ों की संख्या में मिलर्स एवं चावल व्यापारी उपस्थित थे.बैठक में बताया गया कि सभी व्यक्तिगत, फर्म, सोसायटी, कम्पनी एवं संयुक्त उद्यम जिनके पास छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) का वैध मण्डी लाईसेंस हैं, नीलामी में भाग लेने के लिए पात्र होंगे.

आयकर रिटर्न, फार्म-16 और व्यक्तिगत के लिए पैन कार्ड की छायाप्रति देना होगा. सभी के लिए आयकर विभाग द्वारा जारी पैन की सत्यापित प्रति संलग्न करना होगा. धान की नीलामी समितिवार एवं प्रजातिवार अलग-अलग किया जायेगा. समिति में नीलामी हेतु उपलब्ध वेरायटीवार संपूर्ण मात्रा की नीलामी सिंगल लॉट में की जायेगी. सरप्लस धान की नीलामी हेतु धान की किस्मवार, समितिवार एवं बारदाना प्रकारवार मात्रा का विवरण ई-ऑक्शन प्लेटफार्म प्रदायकर्ता को उपलब्ध कराया जायेगा. इस अवसर पर डीएमओ कर्ष एवं जिला खाद्य अधिकारी चित्रकांत धु्रव भी उपस्थित थे.

Please share this news