Monday , 30 March 2020
हिन्दुस्तान को बचाने के लिए 21 दिनों तक बंद रहेगा देश, सरकार ने आज 15 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान

हिन्दुस्तान को बचाने के लिए 21 दिनों तक बंद रहेगा देश, सरकार ने आज 15 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान

नई दिल्ली (New Delhi) . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश और दुनिया में लगातार कोरोना (Corona virus) के बढ़ते मामलों के बीच मंगलवार रात 8 बजे देश को संबोधित किया. पीएम मोदी ने आज रात 12 बजे से पूरे देश में संपूर्ण लॉकडाउन (Lockdown) का ऐलान किया है. पीएम मोदी ने कहा कि रात 12 बजे से घरों से बाहर निकलने पर, पूरी तरह पाबंदी लगाई जा रही है. साथियों, पिछले 2 दिनों से देश के अनेक भागों में लॉकडाउन (Lockdown) कर दिया गया है. राज्य सरकार (State government) के इन प्रयासों को बहुत गंभीरता से लेना चाहिए.हिंदुस्तान को बचाने के लिए, हिंदुस्तान के हर नागरिक को बचाने के लिए आज रात 12 बजे से, घरों से बाहर निकलने पर, पूरी तरह पाबंदी लगाई जा रही है. 
– अब हर गांव, हर कस्बे, हर गली-मोहल्ले लॉकडाउन
पीएम मोदी ने कहा कि देश के हर राज्य को, हर केंद्र शासित प्रदेश को, हर जिले,हर गांव, हर कस्बे, हर गली-मोहल्ले को अब लॉकडाउन (Lockdown) किया जा रहा है. निश्चित तौर पर इस लॉकडाउन (Lockdown) की एक आर्थिक कीमत देश को उठानी पड़ेगी. लेकिन एक-एक भारतीय के जीवन को बचाना इस समय मेरी, भारत सरकार की, देश की हर राज्य सरकार (State government) की, हर स्थानीय निकाय की, सबसे बड़ी प्राथमिकता है. आने वाले 21 दिन हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं. हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो, कोरोना (Corona virus) की संक्रमण सायकिल तोड़ने के लिए कम से कम 21 दिन का समय बहुत अहम है. 
– 15 हजार करोड़ रु का प्रावधान
पीएम मोदी ने कहा कि अब कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए,देश के हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को और मजबूत बनाने के लिए केंद्र सरकार ने आज 15 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान किया है. इससे कोरोना से जुड़ी टेस्टिंग फेसिलिटीज,पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्वीपमेंट्स, आइसोलेशन बेड्स, आईसीयू बेड्स,वेंटिलेटर्स,और अन्य जरूरी साधनों की संख्या तेजी से बढ़ाई जाएगी.पीएम मोदी ने कहा कि मैंने राज्य सरकारों से अनुरोध किया है कि इस समय उनकी पहली प्राथमिकता,सिर्फ और सिर्फ स्वास्थ्य सेवाएं ही होनी चाहिए, हेल्थ केयर ही प्राथमिकता होनी चाहिए. लेकिन साथियों,ये भी ध्यान रखिए कि ऐसे समय में जाने-अनजाने कई बार अफवाहें भी फैलती हैं. मेरा आपसे आग्रह है कि किसी भी तरह की अफवाह और अंधविश्वास से बचें.