Monday , 14 June 2021

दिल्ली में कोरोना गाइडलाइन्स का उल्लंघन करने वालों को मिलेगी अनोखी सजा

नई दिल्ली (New Delhi) . दिल्ली में कोरोना (Corona virus) के मामलों में आ रहे उछाल के बीच राष्ट्रीय राजधानी कोरोना गाइडलाइन्स का उल्लंघन करने वालों को दंडित करने के लिए एक नया तरीका निकाला है, जिसे देखकर सब हैरान हो रहे हैं. दिल्ली के अधिकारियों ने सार्वजनिक स्थानों पर कोरोना गाइडलाइन्स उल्लंघन करने वालों से निपटने के लिए एक नया तरीका अपनाया है.

नागरिक सुरक्षा कर्मचारियों की मदद से शहर के स्वास्थ्य विभाग के कार्यकर्ता अब उन लोगों की कोरोना जांच करेंगे जो कोविद सुरक्षा मानदंडों का उल्लंघन करते हुए पाए जाएंगे. सिविल डिफेंस वर्कर नमन कुमार ने कहा, “हमारे पास प्राधिकरण के निर्देश हैं कि जो लोग राजीव चौक आ रहे हैं, वे बिना मास्क पहने आ रहे हैं या ठीक ढंग से नहीं पहन रहे हैं, हम उनकी कोरोना जांच करेंगे या उनसे जुर्मान की मोटी रकम लेंगे, जो कि 2,000 रुपये है. ये रकम दिल्ली सरकार ने निर्धारित की है. रैंडम परीक्षण में एंटीजन और आरटी-पीसीआर परीक्षण दोनों शामिल हैं. स्वास्थ्य विभाग के एक कर्मचारी संजीव कुमार ने कहा, हम कनॉट प्लेस, सरोजिनी नगर और लाजपत नगर जैसे बाजार क्षेत्रों में कम से कम 100 परीक्षण, एंटीजन और आरटी-पीसीआर दोनों का संचालन कर रहे हैं. कई लोग कोविड का परीक्षण करने में डर रहे हैं, लेकिन हम उन्हें बता रहे हैं कि यह उनकी अपनी सुरक्षा के लिए है. त्योहारी सीजन के साथ ही दिल्ली के बाजारों में लोगों की भारी भीड़ देखी गई. चूंकि लोग कनॉट प्लेस, सरोजिनी नगर और लाजपत नगर में बाजारों में घूमते हैं, इसलिए शहर में कोविड सुरक्षा प्रोटोकॉल एक प्रमुख चिंता का विषय बन गया है.

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने लोगों से कोरोनोवायरस से संबंधित प्रोटोकॉल का पालन करने की अपील की है. लेकिन दिल्ली के बाजारों में भारी गिरावट ने इस मामले को लेकर चिंता बढ़ा दी है. महिला नागरिक सुरक्षा कर्मचारी सीता ने बताया कि, जब हम उनसे [लोगों] को जुर्माना देने या परीक्षण केंद्रों में खुद को जांचने के लिए कहते हैं, तो अधिकांश उल्लंघनकर्ता कहते हैं कि आपको ऐसा करने का अधिकार नहीं है इसलिए इसलिए हमें पीछे हटना होगा. हमारा अपना परिवार है, लेकिन एक ही समय में, हमारा कर्तव्य है कि हम इस शहर को दूसरे स्पाइक से रोकें, इसलिए हम अपना कर्तव्य निभा रहे हैं.

Please share this news