अमेरिका में कमर्शियल स्पाइवेयर के दुरुपयोग करने वालों को नहीं मिलेगा वीजा

वाशिंगटन, 6 फरवरी . अमेरिकी सरकार ने एक नई नीति की घोषणा की है जो कमर्शियल स्पाइवेयर के दुरुपयोग में शामिल व्यक्तियों पर वीजा प्रतिबंध लगाने की अनुमति देगी.

कमर्शियल स्पाइवेयर का दुरुपयोग सबसे गंभीर मामलों में मनमाने ढंग से हिरासत में लेने, गायब होने और हत्याओं से जुड़ा हुआ है.

सरकार ने एक बयान में कहा, इन उपकरणों का दुरुपयोग अमेरिकी कर्मियों के लिए सुरक्षा और काउंटर-इंटेलिजेंस खतरा पैदा करता है.

नई नीति में निवेशकों और कंपनियों के प्रमुखों के साथ-साथ अवैध निगरानी करने वाली सरकारों की ओर से काम करने वालों को भी शामिल किया गया है.

यह नीति किसी व्यक्ति के वीजा आवेदन में दी गई जानकारी का उपयोग कर लागू की जाएगी.

अमेरिकी विदेश विभाग ने कहा, ”यह नई नीति कमर्शियल स्पाइवेयर के दुरुपयोग का मुकाबला करने के लिए अमेरिका के व्यापक दृष्टिकोण में सबसे हालिया कार्रवाई है. पिछली कार्रवाइयों में अमेरिकी सरकार द्वारा कमर्शियल स्पाइवेयर के उपयोग पर प्रतिबंध लगाने वाला एक कार्यकारी आदेश जारी करना शामिल है, जो अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा या विदेश नीति के हितों के लिए जोखिम पैदा करता है.”

सरकार ने कहा कि कमर्शियल स्पाइवेयर के दुरुपयोग से गोपनीयता और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता, शांतिपूर्ण असेंबली और एसोसिएशन को खतरा है.

पिछले साल मार्च में, जो बाइडेन सरकार ने एक कार्यकारी आदेश के जरिए कहा था कि वह कमर्शियल स्पाइवेयर का उपयोग नहीं करेगी, जो अमेरिकी सरकार के लिए जोखिम पैदा करता है.

पीके/

Check Also

दिल्ली में जामिया कैंपस में हुई झड़प में 3 घायल

नई दिल्ली, 2 मार्च . जामिया मिलिया इस्लामिया (जेएमआई) परिसर में दो समूहों के बीच …