Sunday , 18 April 2021

रिलायंस पेट्रोल पंप दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले दबोचे

भिंड (Bhind) फर्जी वेबसाइट बनाकर रिलायंस पेट्रोल (Petrol) पंप मंजूर होने का झांसा देकर सायबर ठगी करने वाले एक गिरोह को भिंड (Bhind) पुलिस (Police) ने दबोचा है. इस गिरोह के दो पुरुष और एक महिला आरोपी को पुलिस (Police) ने पकड़ लिया है. यह अंतरराज्यीय गिरोह है, जिसकी यूपी और गुजरात (Gujarat) पुलिस (Police) को भी तलाश थी. अब तक यह गिरोह 60 से ज्यादा लोगों के साथ लाखों रुपए की ठगी कर चुका है.

बाराबंकी (उप्र) के दरियागंज निवासी ऋषभ जैन ने जैन समाज के नेता रविसेन जैन के साथ भिंड (Bhind) एसपी मनोज कुमार सिंह से मुलाकात करते हुए बताया कि उनके साथ रिलायंस पेट्रोल (Petrol) पंप की डीलरशिप देने के नाम पर पांच लाख रुपए की ठगी हुई है. ठग भिंड (Bhind) जिले में ही कहीं आसपास छिपे हुए हैं. साथ ही ऋषभ ने एसपी को वह वेबसाइट भी दिखाई, जिस पर आवेदन कर उसके साथ ठगी हुई थी. इस पर एसपी ने एएसपी संजीव कंचन के मार्गदर्शन सीएसपी आनंद राय और डीएसपी हेडक्वार्टर के नेतृत्व में टीमें बनाईं. सायबर सेल को भी एक्टिव किया. इसके बाद पुलिस (Police) ने 24 घंटे के भीतर ठगी करने वाले आशिफ (41) पुत्र नासिर खान निवासी झांसी, आकाश (36) पुत्र पूरन सिंह और नेहा पत्नी आकाश सिंह निवासी महोबा उप्र को भारौली तिराहा के पास से दबोच लिया.

रिलायंस पेट्रोलियम की फर्जी वेबसाइट बनाकर पेट्रोल (Petrol) पंप देने का झांसा देकर ठगी करने वाले 3 आरोपियों को पकड़ा है. इनसे अभी पूछताछ की जा रही है. सायबर फर्जीवाड़े से बचने के लिए लोग पहले पूरी जांच पड़ताल करें. साथ ही जब किसी खाते में पैसा आरटीजीएस करते हैं तो उस खाते का नंबर और खाता धारक का नाम अवश्य पता करें. इस कार्रवाई में सीएसपी आनंद राय, एसडीओपी गोहद नरेंद्र सोलंकी, डीएसपी हेडक्वार्टर मोतीलाल कुशवाह, देहात टीआई डीबीएस तोमर, मालनपुर टीआई विनोद सिंह कुशवाह, एसआई दीपेंद्र यादव, शिवप्रताप सिंह, परशुराम सिंह, एएसआई सत्यवीर सिंह, आरक्षक राहुल, सायबर सेल के आरक्षक आनंद, महेश कुमार, राहुल यादव ओर हरपाल की भूमिका अहम रही.

 

Please share this news