Sunday , 11 April 2021

फिर बदला मौसम: जम्मू-कश्मीर में बर्फबारी से घरों की छतें गिरीं, हरियाणा, पंजाब, उत्तरप्रदेश, राजस्थान और दिल्ली में शीतलहर चलेगी

नई दिल्ली (New Delhi) . देश के उत्तरी हिस्से में सर्दी का सितम जारी है. जम्मू-कश्मीर में पिछले एक हफ्ते से भारी बर्फबारी जारी है. यहां 24 घंटे में 6 फीट तक बर्फ गिर चुकी है. बर्फ के वजन से घरों की छतें तक गिरने लगी हैं. जम्मू-श्रीनगर (Srinagar) हाईवे पर बर्फ की मोटी परत जम गई है. इसके चलते हाईवे पर पांचवें दिन भी यातायात ठप रहा. इधर, अरब सागर के दक्षिण पूर्व हिस्से में बने चक्रवात का असर देश के अधिकतर हिस्से में दिख रहा है. राजस्थान (Rajasthan)में रविवार (Sunday) से शीतलहर चलने का अनुमान है. मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) और छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में भी पारा गिरेगा. हरियाणा (Haryana) और बिहार (Bihar) में भी मकर संक्रांति से पहले अच्छी ठंड पडऩे की उम्मीद है.

भोपाल (Bhopal) में रात से रुक-रुककर बारिश

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal) में शुक्रवार (Friday) रात से रुक-रुककर बारिश होती रही. शनिवार (Saturday) को कोहरा और बादल छाए रहने के बावजूद दिन के तापमान में 0.5 डिग्री की गिरावट हुई. मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक, रविवार (Sunday) से ठंड बढ़ेगी. पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में भी अगले दो दिन में ठंड बढऩे के आसार हैं.

जयपुर (jaipur)में दिन भर कोहरा-शीतलहर

राजस्थान (Rajasthan)की राजधानी जयपुर (jaipur)में कोहरे के चलते सूर्योदय-सूर्यास्त का अंतर ही मिट गया. हवा में नमी का लेवल 100त्न रहा. बादल छाए रहे और ठंडी हवाओं से गलन का अहसास रहा. शाम होने के बाद सर्दी और बढ़ गई. मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 24 घंटे बादल छाए रहने के आसार हैं. रविवार (Sunday) से शीतलहर चलने पर रात का तापमान 2 से 4 डिग्री सेल्सियस तक गिरने का अनुमान लगाया गया है.

हरियाणा (Haryana) में बारिश के बाद कोहरा

राज्य में ठंड फिर बढऩे लगी है. जनवरी का पहला हफ्ता बिना पाला जमे ही निकल गया, ऐसा अमूमन कम ही होता है. मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि इसका बड़ा कारण पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से बरसात होना है.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में दो दिन बाद ठंड बढऩे के आसार

प्रदेश में 11 जनवरी से ठंड बढऩे के आसार हैं. इस दौरान रात का तापमान 5 से 6 डिग्री तक गिरने की संभावना है. करीब एक हफ्ते तक पारा कम रहेगा. इससे पहाड़ी इलाकों में ठंड लौटेगी, जबकि मैदानी इलाकों में हल्की ठंड पडऩे की संभावना है. पश्चिम विक्षोभ के कारण दक्षिण-पूर्वी दिशा से आ रही हवा काफी नम है. इसलिए प्रदेश के ज्यादातर जिलों में आसमान पर बादल छाए हुए हैं. 11 जनवरी से बादल छंटते ही रायपुर (Raipur), बिलासपुर (Bilaspur) व बस्तर संभाग में ठंड बढ़ेगी. सरगुजा संभाग में 12 से मौसम खुलेगा और ठंड बढ़ेगी.

Please share this news