Wednesday , 28 July 2021

जनसंख्या नियंत्रण मसौदे का अयोध्या के संतों ने किया समर्थन

अयोध्या (Ayodhya) . अयोध्या (Ayodhya) में संत समाज ने जनसंख्या नियंत्रण कानून की पहल पर सहमति जताई है. सूत्रों के अनुसार उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) सरकार जनसंख्या नियंत्रण के लिए राज्य विधि आयोग से कानूनी मसौदा तैयार करवा रहा है, जिसमें 2 से अधिक बच्चों वालों को राशन और वाहन सब्सिडी में कटौती के विभिन्न पहलुओं पर पाबंदी लगा दी जाएगी. राम घाट स्थित तपस्वी जी की छावनी के महंत परमहंस दास ने की मानें तो सभी समस्याओं का जड़ बेरोजगारी है, जो एक क्राइम है. इसका मूल वजह है असंतुलित जनसंख्या वृद्धि है.

उनका मानना है कि जनसंख्या विस्फोट हो रहा है. जमीन उतनी ही है और जनसंख्या बहुत तेजी से बढ़ती जा रही है. उन्होंने कहा कि टू चाइल्ड पॉलिसी शक्ति से लागू हो. अधिक बच्चे होने से समस्याएं भी अधिक होंगी जो राष्ट्र के प्रति जिम्मेदार नहीं हैं. वायु प्रदूषण भी बढ़ रहा है. आज के पढ़े-लिखे दौर में यह बताया जा रहा है कि छोटा परिवार सुखी परिवार. इसके बावजूद भी लोग दर्जनों बच्चा पैदा कर रहे हैं.

महंत परमहंस दास ने कहा कि जनसंख्या वृद्धि सभी समस्याओं का जड़ है और देश को बचाने के लिए पापुलेशन कंट्रोल बिल बहुत जरूरी है. प्रदेश में ही नहीं पूरे देश में लागू हो टू चाइल्ड पॉलिसी. महंत परमहंस दास ने तो यहां तक कह दिया कि 2 बच्चे से ज्यादा होने पर उनकी नेशनलिटी रद्द कर दी जाए और रुपए 1000000 का जुर्माना भी लगाए. महंत ने कहा कि आयोग द्वारा कानून बनाया जा रहा है, जो बहुत ही सुंदर और श्रेष्ठ है. उनकी मानें तो यदि हम जनसंख्या में वृद्धि ज्यादा करते हैं तो हमारे देश में बेरोजगारी बढ़ती है. इससे विपन्नता बढ़ती है. कहीं न कहीं इसका असर हमारे देश पर पड़ता है.

Please share this news