Saturday , 19 June 2021

कोरोना संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर 84 फीसद से ज्यादा, मध्य प्रदेश अब देश में 14वें नंबर का राज्य बना


भोपाल (Bhopal) . मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के मुख्यमंत्री (Chief Minister) शिवराज सिंह चौहान ने बताया ‎कि प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव प्रकरणों की तुलना में स्वस्थ होने वालों की दर में वृद्धि हो रही है. सक्रिय मामलों के हिसाब से मध्य प्रदेश अब देश में 14वें नंबर का राज्य है. 26 जिलों में नए पॉजिटिव प्रकरणों की तुलना में स्वस्थ होने वालों की दर अधिक है. 23 अप्रैल को संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर 80.41 फीसद थी, जो रविवार (Sunday) को बढ़कर 84.19 फीसद हो गई. उन्होंने कहा कि संक्रमण की कड़ी (चेन) तोड़ने में कोई लापरवाही नहीं होनी चाहिए. कोरोना कर्फ्यू का सख्ती के साथ पालन कराया जाए.

प्रदेश में स्वस्थ होने वाले मरीजों में 87.3 फीसद अस्पताल नहीं गए. 83.4 फीसद होम आइसोलेशन और 3.9 प्रतिशत मरीजों ने कोविड केयर सेंटर में स्वास्थ्य लाभ लिया. कुल 68,156 मरीज होम आइसोलेशन में हैं. 52 जिलों में 251 कोविड केयर सेंटर प्रारंभ हो चुके हैं. इनमें 16,636 बिस्तरों की व्यवस्था है. वहीं, ग्रामीण क्षेत्रों में 22,010 संस्थागत सेंटर बनाए गए हैं, जिनमें 2,63,715 बिस्तरों की व्यवस्था की गई है. प्रदेश के जिला अस्पतालों के 2,302 बिस्तरों में से अब तक 1,476 बिस्तरों के लिए ऑक्सीजन पाइप लाइन डाली जा चुकी है. सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के 4,643 बिस्तरों में से अब तक 557 बिस्तरों के लिए ऑक्सीजन पाइप लाइन डालने का काम पूरा हो गया है. सरकारी अस्पतालों के बिस्तरों को ऑक्सीजनयुक्त करने के लिए पाइप लाइन डालने का काम तेजी से कराया जा रहा है. राज्य शासन की ओर से बताया गया है कि प्रदेश को 24 अप्रैल से अभी तक 649 टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की स्वीकृति केंद्र सरकार (Central Government)से मिली है. उधर, सरकार प्रदेश के 37 जिलों में नए ऑक्सीजन प्लांट लगवा रही है. चपहले चरण में 16 मई तक 13 जिलों में प्लांट शुरू हो जाएंगे.

दूसरे चरण में 23 मई तक नौ जिले और तीसरे चरण में बीस जुलाई तक 15 जिलों में ऑक्सीजन प्लांट प्रारंभ करने का लक्ष्य है.झारखंड एवं गुजरात (Gujarat) से ऑक्सीजन टैंकर एयरलिफ्ट करके इंदौर, भोपाल (Bhopal) और ग्वालियर (Gwalior) लाए जा रहे हैं. रेल के माध्यम से राउरकेला से जबलपुर (Jabalpur)तक छह टैंकर के रैक की सुविधा उपलब्ध कराने की मांग रेल मंत्रालय से की गई है. वहीं, ऑक्सीजन उत्पादक कंपनी एयर लिक्विड, पानीपत से मध्य प्रदेश को ऑक्सीजन आवंटन छह टन प्रतिदिन से बढ़ाकर 20 टन करने एवं आइनॉक्स बोकारो से आवंटन 100 से बढ़ाकर 133 टन करने का अनुरोध भी केंद्र सरकार (Central Government)से किया गया है.

Please share this news