Friday , 25 June 2021

अधिवक्ताओं के नाम काटने के विरोध में तीसरे दिन भी जारी रहा अनशन

सीधी . जिला न्यायालय में चुनाव के पहले करीब 115 नाम काटने को लेकर आमरण अनशन शुरू हैं जो तीसरे दिन भी जारी रहा. मांग है कि जब तक मामले की जांच नहीं की जाती तब तक यह अनशन जारी रहेगा. निवर्तमान अध्यक्ष बृजेन्द्र सिंह बघेल के खिलाफ वरिष्ठ अधिवक्ता धरने पर बैठे हैं उनके साथ पूर्व अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष मुनीन्द्र द्विवेदी सहित अन्य अधिवक्ताओं का भी समर्थन मिल रहा है.

इस संबंध में धरने में बैठे अधिवक्ता अंजनी तिवारी ने कहा कि निवर्तमान अध्यक्ष बृजेन्द्र सिंह का यह अन्याय हम बर्दाश्त नहीं कर पाएंगे. कई लोगों को मतदाता सूची से बाहर करने के पीछे उनका क्या मकसद था यह तो वहीं बताएंगे लेकिन आज अधिवक्ता अपनी लड़ाई लडऩे के लिए मजबूर हैं. वहीं तीन बार निर्वाचित रहे मुनीन्द्र द्विवेदी अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष का भी नाम काटे जाने को लेकर उन्होने कहा कि यह तो तानाशाही रवैया है. जो रेग्युलर न्यायालय आते थे उनका नाम भी सूची से हटा दिया गया यह बिल्कुल गलत रवैया है. वहीं एडवोकेट आनंद पाण्डेय ने कहा कि तीन साल का कार्यकाल होने का फायदा निवर्तमान अध्यक्ष उठा रहे हैं जिन्होने बिना सूचना दिए 60 रूपये रसीद काटने का फरमान जारी कर दिए थे. अब उनके इस कारनामे से अधिवक्ता संघ में काफी आघात पहुंचा है इसका पुरजोर विरोध किया जाएगा.

चुनाव स्थगित करने की रखी गई मांग

इस संबंध में उच्च न्यायालय को निर्वाचन के संदर्भ में पूर्व अध्यक्ष मुनीन्द्र द्विवेदी द्वारा याचिका का निराकरण होने तक निर्वाचन प्रक्रिया स्थगित रखने की मांग की गई है. उन्होने कहा कि अप्रैल वर्ष 2018 एवं मार्च 2020 तक का मासिक शुल्क जमा कर चुके समस्त अधिवक्ताओं का नाम मतदाता सूची में जोड़ा जाये जिन्हे मतदात के अधिकार से वंचित करने का दुत्साहस किया गया है. वहीं निर्वाचन अधिकारी ओम प्रकाश श्रीवास्तव को बिना किसी भय एवं दवाब के कार्य करने दिया जाये. साथ ही राज्य अधिवक्ता परिषद के पत्र दिनंाक 15 फरवरी 2021 में वर्णित आदेश एवं निर्देश में संघ परिषद द्वारा प्रेषित सूची के अनुसार स्वच्छ निर्वाचन कराने के लिए मांग की गई है. वहीं निवर्तमान अध्यक्ष बृजेन्द्र सिंह के कार्यकाल के आय, व्यय और कोरोना काल में आने वाले सहायता राशि के दुरूपयोग और चेंबरो के निर्माण एवं आवंटन में किये गये भ्रष्टाचार की न्यायिक जांच की मांग भी की गई है.

Please share this news