Monday , 14 June 2021

बाल श्रम के मामले में संलिप्त व्यवसाई को मिली अग्रिम जमानत, न्यायालय ने दिए आवश्यक निर्देश

उदयपुर (Udaipur). मानव तस्करी यूनिट द्वारा जिले भर में चलाए जा रहे बाल श्रम उन्मूलन के मामले में जनवरी माह में एक साथ तीन कार्रवाइयों में रेस्क्यू  किए गए 3 बाल श्रमिकों को बालसम कराने के मामले की एक कार्रवाई में पुलिस (Police) द्वारा दर्ज किए गए गिफ्ट सेंटर के मालिक को अपर जिला एवं सत्र न्यायालय ने अग्रिम जमानत दी है

मामले के अनुसार मानव तस्करी यूनिट ने गत 7 जनवरी को शोभागपुरा स्थित जेएफसी फास्ट फूड पर बाल श्रम करते एक बालक को रेस्क्यू किया और रेस्टोरेंट के मालिक शिव सिंह देवड़ा के विरुद्ध प्रकरण दर्ज किया. इसी दिन मानव तस्करी यूनिट ने फतेहपुरा स्थित नियर एंड डियर गिफ्ट शॉपिंग सेंटर के बाहर बैठे एक नाबालिक को बाल श्रम के मामले में देश क्यों करते हुए नियोक्ता सुरेश मोदी एवं इसी बिल्डिंग में संचालित श्रीनाथ डायनिंग हॉल एंड रेस्टोरेंट पर कार्य करते एक बालक को रेस्क्यू कर मालिक भंवर सिंह सारंगदेवोत के विरुद्ध बाल श्रम के मामले में प्रकरण दर्ज किया.

इस मामले में नियर एंड डियर गिफ्ट शॉप के मालिक सुरेश मोदी ने जिला एवं सत्र न्यायालय में अग्रिम जमानत के लिए अधिवक्ता हरीश पालीवाल के माध्यम से आवेदन किया जो सुनवाई बाबत अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश (judge) 3 के न्यायालय को स्थानांतरित किया गया. न्यायालय ने मामले की पत्रावली का अवलोकन करने के बाद पुलिस (Police) को आवश्यक दिशा निर्देश दिए तथा मामले में लिफ्ट सुरेश मोदी को 25000 मुचलके व 25000 की जमानत पर  सशर्त अग्रिम जमानत दी है.

Please share this news