Saturday , 19 June 2021

प्रदेश के नागरिकों को मिलेगी रूसी वैक्‍सीन स्‍पूतनिक

राज्‍य सरकार ने आयात करने की योजना बनाई, मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कोरोना नियंत्रण कोर ग्रुप की बैठक में दिए निर्देश

भोपाल (Bhopal) . प्रदेश सरकार वैक्‍सीन की तंगी को देखते हुए अब तीसरे विकल्‍प को आजमाने की तैयारी कर रही है. इस बात की पूरी संभावना है कि प्रदेश के नागरिकों को जल्‍दी ही स्‍पूतनिक 5 वैक्‍सीन की खुराक मिलेगी. मुख्यमंत्री (Chief Minister) शिवराज सिंह चौहान ने अपने निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये कोरोना नियंत्रण कोर ग्रुप की बैठक में इस संबंध में निर्देश दिए.

cm-sputnik

मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने निर्देश दिए कि प्रदेश में सभी योग्‍य आयु वर्ग के नागरिकों को वैक्सीन की निरंतर उपलब्धता सुनिश्चित की जाए. उन्‍होंने साथ ही कहा कि वैक्सीन आयात करने की संभावना पर भी विचार किया जाए. बैठक में बताया गया कि जून के प्रथम माह से रूस की स्पूतनिक वैक्सीन मिल सकेगी. चौहान ने निर्देश दिए कि वैक्सीन का एक भी डोज़ वेस्ट नहीं होना चाहिए. केंद्र सरकार (Central Government)ने इस वैक्‍सीन के आपातकालीन उपयोग को मंजूरी दे रखी है.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि प्रदेश में हर कोविड मरीज को इलाज के लिए आवश्यकता अनुसार सामान्य, ऑक्सीजन एवं आई.सी.यू. बिस्तर उपलब्ध कराए जाएंगे. इसके लिए हर जिले में निरंतर बिस्तर बढ़ाए गए हैं. सभी जिले यह सुनिश्चित करें, कि हर कोविड मरीज़ को उपचार के लिए अस्पतालों में बिस्तर मिलें.

उन्‍होंने कहा कि कोरोना छुपाएँ नहीं बताएँ. शुरू में ही दवा प्रारंभ होने पर यह बीमारी ठीक हो जाती है परन्तु विलंब करने पर जानलेवा हो जाती है. किल कोरोना अभियान के अंतर्गत घर-घर सर्वे अभियान चलाया जा रहा है. नगरों में कोविड सहायता केन्द्र बनाए जा रहे हैं. सर्दी-जुकाम, खाँसी आदि के मरीज नि:शुल्क मेडिकल किट प्राप्त करें और तुरंत दवाएँ लें.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि कोविड के विरूद्ध अभियान को प्रदेश में जन-आंदोलन बनाया जाए. इसमें समाज के सभी वर्गों को जोड़ा जाए. गाँव-गाँव, शहर-शहर सर्वे कर एक-एक छुपे मरीज की पहचान की जाए तथा उसे दवा देकर स्वस्थ किया जाए.

नए प्रकरणों में निरंतर गिरावट

प्रदेश में कोरोना के नए प्रकरणों में निरंतर गिरावट आ रही है. पिछले 24 घंटे में 11 हजार 598 नए प्रकरण आए हैं, 4445 मरीज स्वस्थ हुए हैं. सक्रिय प्रकरणों की संख्या एक लाख 2 हजार 486 है. पिछले तीन हफ्ते से साप्ताहिक नए प्रकरणों में कमी आ रही है. संक्रमण की दृष्टि से प्रदेश देश में 15वें स्थान पर आ गया है. प्रदेश की सात दिन की औसत पॉजिटिविटी रेट 19 प्रतिशत है.

प्रदेश में कुल कोरोना मरीजों में 75% होम आइसोलेशन में हैं तथा 25% अस्पतालों में है, जिनमें से 14% ऑक्सीजन बैड्स पर, 7% आई.सी.यू बैड्स पर तथा 4% मरीज सामान्य बैड्स पर हैं. मुख्यमंत्री (Chief Minister) कोविड उपचार योजना के अंतर्गत वर्तमान में प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती 515 पात्र मरीजों को नि:शुल्क कोविड इलाज का लाभ दिया जा रहा है. इसमें 19 लाख 46 हजार 700 रूपए की राशि आज की तिथि में अस्पतालों को शासन की ओर से दी जाएगी.

प्रदेश में कोविड के इलाज के लिए निजी चिकित्सालयों द्वारा अधिक राशि लिए जाने के कुल 72 प्रकरणों में 15 लाख 97 हजार रूपए की राशि मरीजों के परिजनों को लौटाई गई है और 25 व्यक्तियों के‍विरूद्ध FIR दर्ज की गई.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) चौहान ने निर्देश दिये कि रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वाले छूटें नहीं, जेल जाएँ, यह सुनिश्चित किया जाए. प्रदेश में कार्रवाई निरंतर जारी है. आज 3 प्रकरणों में कार्रवाई की गई है. पूर्व में 20 प्रकरणों में रासुका की कार्रवाई की गई है.

मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने निर्देश दिए कि बीना में ऑक्सीजन बॉटलिंग प्लांट शीघ्र शुरू किया जाए. वहाँ दो प्लांट 90-90 टन के बन रहे हैं. इनसे 18 हजार सिलेंडर रोज भरे जाएंगे.


News 2021

Please share this news