नई बता टाटा हैरियर की पुरानी कार चिपकाई; कोर्ट के आदेश पर मामला दर्ज, एक माह में रिपोर्ट पेश करने के निर्देश – Daily Kiran
Thursday , 9 December 2021

नई बता टाटा हैरियर की पुरानी कार चिपकाई; कोर्ट के आदेश पर मामला दर्ज, एक माह में रिपोर्ट पेश करने के निर्देश

उदयपुर (Udaipur). टाटा हैरियर खरीदने गए कस्टमर को धोखे में रख कर पुरानी गाड़ी देने के बाद कार में बार-बार खराबी होने पर अन्य राज्य में सर्विस कराने पर पता चला कि कार की बिलिंग 2019 की होकर पार्ट्स की वारंटी खत्म हो गई. इस पर अपने साथ हुई धोखाधड़ी पर कस्टमर को अदालत की शरण लेनी पड़ी. अदालत ने सूरजपोल थानाधिकारी को टाटा मोटर्स उदयपुर (Udaipur) के डीलर चम्बल मोटोकॉर्प व अन्य के खिलाफ योजनाबद्ध तरीके से धोखाधड़ी करने का मामला दर्ज कर एक माह में जांच रिपोर्ट अदालत में पेश करने के आदेश दिए.

पुलिस (Police) सूत्रों के अनुसार आबू रोड़ सिरोही निवासी अजीत सिंह पुत्र अमरजीत सिंह ने पंचशील मार्ग सूरजपोल स्थित चम्बल मोटोकॉर्प के सेल्स एक्जीक्यूटिव अनिल, चम्बल मोटोकॉर्प एवं कम्पनी के मादड़ी इंडस्ट्रीयल एरिया स्थित टाटा सर्विस सेंटर के सर्विस मैनेजर विकास श्रीवास्तव के खिलाफ न्यायालय इस्तगासे के जरिये भादसं की धारा 420 व 120-बी के तहत मामला दर्ज कराया कि टाटा मोटर्स के उदयपुर (Udaipur) के अधिकृत डीलर चम्बल मोटोकॉर्प से टाटा हैरियर 2019 मॉडल कोटा (kota) शो रूम में होना बता कर सेल्स एक्जीक्यूटिव अनिल ने कहा कि हम उक्त गाड़ी को आपके लिए मंगवा देंगे. फरियादी ने कार खरीदने के लिए इनकार कर दिया और कहा कि कार 2020 मॉडल की चाहिए. इस पर फरियादी को विश्वास दिलाया कि गाड़ी 2019 दिसम्बर माह का मॉडल है और उसे गाड़ी लेने के लिए प्रोत्साहित किया.

इस पर आरोपियों पर विश्वास करते हुए 18 मार्च 2020 को गाड़ी खरीद ली. कार का ऑडियो मीटर किलोमीटर देखा तो मात्र 50 किलोमीटर चली हुई थी. शोरूम से बाहर आते ही कार में सॉफ्टवेयर की प्रॉब्लम होने पर अभियुक्तगणों से कहा कि उन्होंने मुझे पुरानी खराब कार डिलेवरी की है. मुझे नई फे्रश कार दी जाए, लेकिन आरोपियों ने उसे बहला-फुसला कर विश्वास दिलाया कि कार नई है सॉफ्टवेयर प्रॉब्लम को ठीक कर देेंगे और उसे ठीक कर डिलेवरी दे दी. कार को अच्छी तरह से देखने से पता चला कि गाड़ी को दुबारा पेंट की गई और सॉफ्टवेयर स्टेयरिंग, बे्रकिंग, इंजन व कार के ए.सी. के पार्टï्स खराब होने लगे तो उसने आरोपियों से पार्टï्स बदलने के लिए कहा, लेकिन बिना पार्ट्स बदले चालू हालत में कार फरियादी को दे दी.

गाड़ी कुछ समय बाद पुन: खराब हो गई तब वह पालनपुर टाटा गजानन शोरूम में लेकर गए तो पता चला कि गाड़ी हैरियर के कुछ पार्ट्स की वारंटी खत्म हो चुकी है. इस पर फरियादी ने उन्हें बताया कि 16 मार्च 2020 को यह गाड़ी खरीदी है. वारंटी खत्म नहीं हो सकती. जांच-पड़ताल करने से पता लगा कि कार की वारंटी 2019 से शुरू कर दी गई है टौर कार की बिलिंग 31 दिसम्बर 2019 को हो चुकी है. इस पर आरोपियों से सम्पर्क किया तो उन्होंने बदतमिजी की और डराया-धमकाया. आरोपियों ने मुझे पुरानी कार को नई बता कर बेच कर योजनाबद्ध तरीके से धोखाधड़ी की.

मुझे गाड़ी को बार-बार ठीक कराने के लिए जाना पड़ा, जिससे उसका समय भी खराब हुआ. सूरजपोल थाने में इसी वर्ष 15 जनवरी को रिपोर्ट दी लेकिन कार्यवाही नहीं हुई, इस पर पुलिस (Police) अधीक्षक को गत 8 मार्च को कानूनी कार्यवाही के लिए परिवाद दिया फिर भी कार्यवाही नहीं होने पर न्यायालय की शरण ली और अदालत के आदेश से सूरजपोल थाना पुलिस (Police) ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया. मामले की जांच थानाधिकारी स्वयं कर रहे है. अदालत ने यह भी आदेश दिया कि मामले की जांच कर रिपोर्ट एक माह में कोर्ट में पेश करे.

Check Also

आरबीआई की मौद्रिक नीति समीक्षा की मुख्य बातें

मुंबई (Mumbai) . भारतीय रिजर्व बैंक (Bank) की बुधवार (Wednesday) को पेश द्विमासिक मौद्रिक नीति …