Thursday , 29 July 2021

बिहार में दागी मंत्रियों की लिस्ट लेकर पहुंचे तेजस्वी, विधानसभा अध्यक्ष ने कहा, चुपचाप बैठ गए


पटना (Patna) . बिहार (Bihar) में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव कागजों का पुलिंदा लेकर शुक्रवार (Friday) को सदन पहुंचे थे. कार्यवाही शुरू होते ही स्पीकर को बताया कि दागी मंत्रियों पर आरोप वाला कागज लेकर आया हूं.तब स्पीकर ने कहा कि इस शून्यकाल में देखा जाएगा, अभी प्रश्नोत्तर काल चलने दे, इसके तेजस्वी धैर्य के साथ एक घंटे तक बैठे रहे. जैसे ही शून्यकाल शुरू हुआ, तेजस्वी फिर कागज लेकर खड़े हो गए.

दरअसल तेजस्वी ने आरोप लगाया था कि नीतीश कैबिनेट के 31 मंत्रियों में से 18 यानी 64 प्रतिशत मंत्रियों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं. इस लेकर तेजस्वी नीतिश सरकार पर लगातार हमलावर थे. तेजस्वी ने पहले भी दागी मंत्रियों को लेकर बिहार (Bihar) सरकार पर हमला बोला था. तब स्पीकर विजय सिन्हा ने कहा था कि सबूत लेकर आएं,तबमामले को उठाइएगा. इस तरह खड़े होकर किसी पर आरोप लगाना ठीक नहीं है. उस वक्त तेजस्वी ने कहा था कि मैं सबूत आसन को उपलब्ध कराऊंगा. वही सबूत लेकर तेजस्वी शुक्रवार (Friday) को सदन पहुंचे थे.

कागजातों को तेजस्वी ने विधानसभा अध्यक्ष के चेंबर को भी उपलब्ध कराया था. प्रश्नकाल की कार्यवाही खत्म होने के बाद ही तेजस्वी यादव ने मामले को सदन में रखा. उन्होंने कहा कि उनके पास नीतीश कैबिनेट में शामिल 64 फीसदी मंत्रियों से जुड़ा अपराधिक रिकॉर्ड है, जो एडीआर संस्था की तरफ से दी गई है. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि सदन में जब उन्होंने मंत्री रामसूरत (Surat) राय के ऊपर आरोप लगाए था,तब सत्ता पक्ष की तरफ से सबूत मांगा गया था. आसन ने कहा था कि इस संबंध में दस्तावेज और साक्ष्य के आधार पर ही कोई बात कहें, आज वह सबूत लेकर आया हूं.

इसके बाद नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि एडीआर की रिपोर्ट मंत्रियों की तरफ से चुनाव के दौरान खुद दिए गए हलफनामे के आधार पर है.सभी लोगों ने यह माना है कि उनके ऊपर अपराधिक मामले दर्ज हैं. उन्होंने इस रिकॉर्ड को सदन में प्रोसिडिंग का हिस्सा बनाए जाने की मांग रखी. इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि एडीआर की रिपोर्ट सार्वजनिक है और पहले से ही यह पब्लिक डोमेन में है.

Please share this news