Tuesday , 18 February 2020
पर्चियों के लिए खून के आंसू बहा रहे है मसौधा चीनी मिल से जुड़े गन्ना किसान, नेता मौन फरियाद सुने कौन

पर्चियों के लिए खून के आंसू बहा रहे है मसौधा चीनी मिल से जुड़े गन्ना किसान, नेता मौन फरियाद सुने कौन

अयोध्या मसौधा चीनी मिल परिक्षेत्र के गन्ना किसान खेतों में खड़े गन्ने को लेकर परेशान हैं. प्रेम प्रकाश ने बताया कि गन्ना किसान पर्ची के लिए मारे मारे फिर रहे हैं. फिर भी उनकी सुनने वाला कोई नहीं है, आलम यह मिल द्वारा जारी कलेंडर में पर्चियों की संख्या की तुलना में खेतों में अधिक गन्ना खड़ा देख किसानों की चिंताएं बढ़ गइ हैं. उनके समझ में कुछ नहीं आ रहा है कि आखिर अपने इस नगदी फसल को कैसे बेंचे. क्षेत्र के किसान इस नगदी फसलों के भरोसे ही न सिर्फ अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा देने के लिए बाहर भेजते हैं. बल्कि इसी नगदी फसल के भरोसे अपने बिटिया के हाथ भी पीले करते हैं.मौजूदा समय में गन्ना नीति के तहत किसानों के गन्ने का सर्वे हुआ जिसमें बेसिक कोटे के आधार पर ही किसानों के पर्चियों की संख्या निर्धारित की गई. जो किसान मौजूदा पेराइ सत्र में गन्ने का रकबा बढ़ा दिया उसके सामने पर्ची का संकट सबसे ज्यादा खड़ा हो गया है.  बताया जा रहा हैं कि गोंडा जिले का गन्ना खरीद के चलते यहाँ के किसानों का गन्ना खेतो में खड़ा सूख रहा है .