स्वीडन ने फ़िलिस्तीनी शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र एजेंसी की फ़ंडिंग रोकी

स्टॉकहोम, 31 जनवरी . स्वीडन ने कहा है कि उसने इजरायल के इन आरोपों के बाद फिलिस्तीनी शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र एजेंसी की फंडिंग को अस्थायी रूप से रोक दिया है कि उसके कर्मचारियों ने 7 अक्टूबर, 2023 को दक्षिणी इजरायल पर हमास के हमले में भाग लिया था.

स्वीडिश टेलीविजन (एसवीटी) ने मंगलवार को बताया कि स्वीडिश इंटरनेशनल डेवलपमेंट कोऑपरेशन एजेंसी (एसआईडीए) ने फिलिस्तीन शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र राहत और कार्य एजेंसी (यूएनआरडब्ल्यूए) को अपना भुगतान रोक दिया है.

एसवीटी की रिपोर्ट के अनुसार, स्वीडिश सरकार ने इस साल यूएनआरडब्ल्यूए को 400 मिलियन स्वीडिश क्रोनर (38.4 मिलियन डॉलर) देने का वादा किया था, लेकिन 31 मिलियन क्रोनर फिलहाल रोक दिया है.

समाचार एजेंसी श‍िन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, इसमें कहा गया है कि रोकी गई धनराशि विश्व खाद्य कार्यक्रम और रेड क्रॉस की अंतर्राष्ट्रीय समिति जैसे संगठनों को दी जाएगी.

यूएनआरडब्ल्यूए ने पिछले शुक्रवार को कहा कि उसने इसमें शामिल स्टाफ सदस्यों के “अनुबंधों को तुरंत समाप्त करने” और “जांच शुरू करने” का फैसला किया है.

एसआईडीए के एक प्रेस अधिकारी जोहान तजेर्नेंग ने एसवीटी को बताया, “हम चल रही जांच के नतीजे का इंतजार कर रहे हैं और इसके तैयार होने तक कोई पैसा नहीं देंगे.”

अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा, जर्मनी और ऑस्ट्रेलिया सहित देशों ने पहले ही कहा है कि वे यूएनआरडब्ल्यूए के लिए फंडिंग को अस्थायी रूप से निलंबित कर देंगे.

रविवार को, काहिरा स्थित पैन-अरब ब्लॉक अरब लीग ने यूएनआरडब्ल्यूए के लिए हाल ही में पश्चिमी देशों द्वारा फंडिंग को निलंबित करने की आलोचना करते हुए कहा कि यह “गैर-जिम्मेदाराना” है, क्योंकि इससे पहले से ही कमजोर फिलिस्तीनियों पर और प्रभाव पड़ेगा.

– /

Check Also

PW ने मार्केटिंग एसोसिएट की वैकेंसी निकाली, 1 साल एक्सपीरियंस जरूरी, पैन इंडिया जॉब

एडटेक कंपनी, PhysicsWallah ने मार्केटिंग एसोसिएट के पोस्ट पर वैकेंसी निकाली है. इस पोस्ट पर …