राजसमंद में वेदांता हिन्दुस्तान जिंक द्वारा अत्याधुनिक तकनीक के 100 बेड वाले कोविड फिल्ड हाॅस्पीटल की सौगात

अनिल अग्रवाल फाउण्डेशन द्वारा महामारी से राहत के लिये किये गये प्रयास अनुकरणीय– अरविद पोसवाल

जर्मन तकनीक के लगभग 8000 वर्गमीटर एरिया में बने 2500 वर्गमीटर एयरकंडीशन डोम में 20 बेड आइसीयू और 80 बेड आॅक्सीजन सुविधा युक्त

ऐसे समय में, जब दुनिया के विशेषज्ञ कोविड-19 (Covid-19)  की तीसरी लहर के बारे में अपनी आशंकाएं व्यक्त कर रहे हैं, संभावित आने वाले खतरे से राहत एवं बचाव के लिये उदयपुर (Udaipur) संभाग के राजसमंद जिलें में अनिल अग्रवाल फाउण्डेशन, वेदांता हिन्दुस्तान ज़‍ि‍ंक द्वारा अल्ट्रा मॉडर्न सुविधाओं वाले वेदांता केयर्स फील्ड हॉस्पिटल के रूप में अनूठी पहल की गई है. डीएवी स्कूल के खेल मैदान में निर्मित इस 100 बेड वाले फिल्ड हाॅस्पीटल का शुभारंभ राजसमंद जिला कलेक्टर अरविंद पोसवाल, जिला पुलिस (Police) अधीक्षक सुधीर चैधरी एवं हिन्दुस्तान ज़‍ि‍ंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरूण मिश्रा द्वारा किया गया.

कार्यक्रम में अतिथियों ने फिल्ड हाॅस्पीटल का फीता काट कर एवं दीप प्रज्ज्वलन कर उद्घाटन किया. जिला कलेक्टर (Collector) अरविंद पोसवाल एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरूण मिश्रा ने चिकित्सालय पट्टिका का अनावरण किया. कोरोना संक्रमित रोगियों की देखभाल के लिये निर्मित यह हाॅस्पीटल एयरकंडीशन और आधुनिक सुविधाओं से लेस है. दरीबा स्थित डीएवी स्कूल के खेल मैदान में जर्मन तकनीक के लगभग 8000 वर्ग मीटर के एरिया में 2500 वर्गमीटर में बने एयरकंडीशन डोम में यह हाॅस्पीटल स्थापित किया गया है. इसमें 20 बेड आसीयू और 80 बेड आॅक्सीजन सुविधा युक्त होगें.

इस अवसर पर जिला कलेक्टर पोसवाल ने कहा कि ‘इस आपदा के समय में मैं वेदांता, अनिल अग्रवाल फाउंडेशन और हिंदुस्तान जिंक के रिकॉर्ड समय में 100 बेड का फील्ड हाॅस्पीटल बनाने के प्रयासों की सराहना करता हूं. यह चिकित्सालय दरीबा के आसपास के सभी जिलों,राजसमंद, चित्तौड़गढ़ और उदयपुर (Udaipur) से समीप में स्थित होने से महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा. इस अत्याधुनिक सुविधा में सभी बुनियादी और आधुनिक चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध हैं ताकि कोविड रोगियों का श्रेष्ठ उपचार सुनिश्चित किया जा सके. इस वेदांता केयर्स फील्ड हाॅस्पीटल से हम महामारी की तीसरी लहर का सामना करने और उससे लड़ने के लिए तैयार हैं.

समारोह में हिन्दुस्तान ज़‍ि‍ंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरूण मिश्रा ने जिला कलेक्टर (Collector) अरविंद पोसवाल के निर्देशन में कोविड राहत एवं बचाव कार्यो की सराहना की. उन्होंने कहा कि “चिकित्सा के बुनियादी ढांचे में सहयोग और मजबूती प्रदान करने के अपने प्रयासों को जारी रखते हुए, हम हिंदुस्तान जिंक में विभिन्न कोविड राहत उपायों के साथ संपूर्ण राजस्थान (Rajasthan)में राज्य सरकार (State government) और हमारे स्थानीय समुदायों का सक्रिय रूप से सहयोग कर रहे हैं. यह पूरी तरह से सुसज्जित 100 मल्टी-बेड वाला फील्ड अस्पताल कोविड-19 (Covid-19) के खिलाफ लड़ाई में मरीजों को और राहत देगा. यह अस्पताल हमारे ऑन-ग्राउंड अधिकारियों एवं टीम की दिन- रात की कड़ी मेहनत का नतीजा है, जिन्होंने कम समय में इसे मूर्त रूप दिया. यह आधुनिक सुविधा युक्त हाॅस्पीटल महामारी (Epidemic) की संभावित तीसरी लहर में प्रभावी ईलाज संभव करने और अमूल्य जीवन को बचाने में सहायक होगा.”

वेदांता सममूह के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुनील दुग्गल ने कहा कि   “कोविड-19 (Covid-19) ने देश भर में लाखों लोगों के जीवन को प्रभावित किया है और वेदांता समूह इस आपदा के समय में राष्ट्र के साथ एकजुट हैं. महामारी (Epidemic) की तीसरी लहर की प्रबल संभावना के साथ, राजसमंद में हमारा अत्याधुनिक कोविड 19 फील्ड अस्पताल राजस्थान (Rajasthan)में रोगियों को चिकित्सा देखभाल प्रदान करने में सहायक होगा. हमने संक्रमण से प्रभावित लोगों को देखभाल प्रदान करने में केंद्र और राज्य सरकारों का सहयोग करने का संकल्प लिया है. सार्वजनिक और निजी क्षेत्र और समुदाय के प्रयासों से, मुझे विश्वास है कि हम जल्द ही इस संकट से उबरने में सक्षम होंगे.”

कार्यक्रम में हिन्दुस्तान जिंक दरीबा स्मेल्टिंग काॅम्प्लेक्स के डायरेक्टर संजय खटोड़ ने फिल्ड हाॅस्पीटल में दी जाने वाली चिकित्सा सुविधाओं के बारे में अवगत कराया. उन्होंने कहा कि स्थानीय प्रशासन एवं समुदाय की हर संभव सहायता के लिये हिन्दुस्तान जिंक सदैव कटिबद्ध है.

समारोह के दौरान उपनिदेशक चिकित्सा विभाग उदयपुर (Udaipur), पंकज गौर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी राजसमंद प्रकाश चंद्र शर्मा, उपखंड अधिकारी रेलमगरा मनसुख राम डामोर, बीडीओ रेलमगरा बीएल विश्नोई, थानाधिकारी रेलमगरा भरत योगी, बीएमओ डाॅ राजेन्द्र प्रसाद शर्मा, हिन्दुस्तान ज़‍ि‍ंक के वी जयरमन, दीपक सपोरी, अंजली अ्ययर, विनोद जांगीड, डाॅ संजय मिश्रा, राजेन्द्र अग्रवाल, दीप्ती अग्रवाल सहित अधिकारी एवं कर्मचारी मौजुद थे. हिन्दुस्तान ज़‍ि‍ंक की हेड सीएसआर अनुपम निधी ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया.

विश्व स्तरीय तकनीक से लेस है यह हाॅस्पीटल

यह हाॅस्पीटल विश्व स्तरीय तकनीकों से लैस है. वायरस के वायु संचरण को रोकने के लिए, फील्ड अस्पताल में हेपा फिल्टर का उपयोग किया गया है. यह तकनीक हवा को 99.99 प्रतिशत शुद्धता तक फिल्टर करते हुए वायु जनित बैक्टीरिया और संक्रमण के प्रसार का मुकाबला करती है. हिन्दुस्तान ज़‍ि‍ंक अनवरत ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के लिये ऑक्सीजन सिलेंडर मुहैया कराएगी.

चिकित्सालय का संचालन और रखरखाव, चिकित्सा टीम और दवाओं सहित दैनिक उपयोग में ली जाने वाली वस्तुएं प्रशासन द्वारा की जाएगी. जिला प्रशासन, राजसमंद द्वारा वेदांता हिन्दुस्तान ज़‍ि‍ंक के सहयोग से संचलित होने वाले इस हाॅस्पीटल में कोविड के रोगियों के लिये सभी प्रकार की चिकित्सा की सुविधा उपलब्ध होने से उदयपुर (Udaipur) और राजसमंद के रोगियों को लाभ मिल सकेगा. केाविड की तीसरी लहर की संभावना में राहत एवं बचाव के लिये यह हाॅस्पीटल महत्पवूर्ण है.

पानीबिजली और आॅक्सीजन सिलेण्डर सहित मूलभूत आवश्यकता मुहैया करा रहा वेदांता

कोविड केयर हाॅस्पीटल में अनवरत बिजली और पानी की सुविधा के लिये 1200 केवी का बिजली का कनेक्शन और पानी के लिये 10 हजार लीटर क्षमता की सुविधा वेदांता हिन्दुस्तान ज़‍ि‍ंक द्वारा प्रदान की गयी हैं. आपातकालीन बिजली की जरूरत के लिए जनरेटर का बैकअप होगा. कोविड फील्ड अस्पताल के बुनियादी ढांचे का रखरखाव, आवश्यक चिकित्सा उपकरण आपूर्ति मैनटेनेंस, अग्नि शमन,जंबो ऑक्सीजन सिलेंडर भी कंपनी द्वारा उपलब्ध कराये जा रहे है. इस अस्पताल में समर्पित पीपीई चेंजिंग स्टेशनों, सीसीटीवी कैमरे, मेडिकल पाइपलाइनों के माध्यम से ऑक्सीजन की आपूर्ति और केंद्रीय निगरानी आईसीयू सुविधाओं के प्रावधानों के साथ समग्र सुरक्षा और स्वच्छता की निगरानी की जा रही है.

हिन्दुस्तान जिंक प्रशासन के साथ सहयोग के लिये तत्पर

 हिन्दुस्तान जिंक द्वारा प्रदेश के लिये 500 आॅक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध कराए गये है. कंपनी ने 5 दिन के रिकॉर्ड समय में अपनी राजसमंद जिले की दरीबा इकाई में एक ऑक्सीजन बॉटलिंग प्लांट स्थापित किया है जिससे अब तक 14,000 से अधिक सिलेंडर मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा चुकी है. हिंदुस्तान जिंक द्वारा स्थानीय प्रशासन को 225 मीट्रिक टन लिक्विड ऑक्सीजन की आपूर्ति कर सहयोग किया है. अब तक कुल ्365 मीट्रिक टन ऑक्सीजन उपलब्ध करायी गयी है. राजसमंद में ही दरीबा के डीएवी स्कूल परिसर में 350 बेड के हाॅस्पीटल के संचालन में भी प्रशासन को सहयोग दिया है.

Please share this news