गोवा से टिकट की दावेदारी कर रहे भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के सुपुत्र – Daily Kiran
Thursday , 9 December 2021

गोवा से टिकट की दावेदारी कर रहे भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के सुपुत्र

नई दिल्ली (New Delhi) . अगले साल की शुरुआत में गोवा विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) में बीजेपी को टिकट देते वक्त अपने दो नेताओं के बेटों को भी देखना होगा. बीजेपी के बड़े नेता और गोवा के सीएम रहे मनोहर पर्रिकर के बेटे और मौजूदा केंद्रीय राज्य मंत्री श्रीपद नाइक के बेटे बीजेपी से टिकट की मांग कर रहे हैं. जहां मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल पर्रिकर अपने पिता की सीट रही पणजी (Panaji) से टिकट मांग रहे हैं, वहीं श्रीपद नाइक के बेटे सिद्धेश नाइक कुंभारजुआ सीट से टिकट की दौड़ में हैं. ये दोनों विधानसभा सीटें नॉर्थ गोवा में आती हैं. कैंसर से जूझते हुए मार्च 2019 में मनोहर पर्रिकर ने आखिरी सांसें ली थी. गोवा में बीजेपी के विस्तार का श्रेय पर्रिकर को जाता है. पर्रिकर चार बार सीएम रहें और पणजी (Panaji) को ही उन्होंने अपना बेस बनाया. पर्रिकर के 38 साल के बेटे उत्पल पणजी (Panaji) से टिकट चाहते हैं.उत्पल बीजेपी की राज्य कार्यकारिणी के सदस्य हैं,वहीं सिद्धेश नाइक जिला पंचायत सदस्य हैं.इसबारे में बीजेपी के गोवा प्रदेश अध्यक्ष सदानंद तनावड़े ने कहा कि हर कोई अपनी दावेदारी कर सकता है.

कौन बीजेपी का उम्मीदवार होगा और किस सीट से होगा इसका फैसला पार्टी की पार्लियामेंट्री बोर्ड करेगी. उन्होंने कहा कि हमें किसी को भी टिकट देने में कोई दिक्कत नहीं है, हम चाहते हैं कि बीजेपी फिर से गोवा में सत्ता में वापसी करे.पार्टी विनेबिलिटी फैक्टर देखेगी और जो जीतने वाला कैंडिडेट होगा उस टिकट देगी. गोवा में बीजेपी के एक दूसरे नेता ने कहा कि कोई किसी का बेटा है, बस इसकारण किसी को टिकट देना संभव नहीं है. उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी राष्ट्रीय है और हम यहां कोई फैसला नहीं लेने वाले है. हमारे प्रभारी सीटी रवि और चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस हैं. उन्हें पूरा गोवा मालूम है और वह स्टडी भी कर रहे हैं. दोनों नेता हर 15 दिन में गोवा आ रहे हैं. बीजेपी के एक गोवा बेस्ड नेता ने कहा कि मनोहर पर्रिकर के बेटे पहले पॉलिटिक्स में सक्रिय नहीं थे. वह अपने पिता को चुनाव क्षेत्र में मदद करते होंगे, लेकिन चुनाव में मदद करने और पार्टी में सक्रिय होने में फर्क है. उन्होंने ने यह रखा था कि परिवार से किसी को पॉलिटिक्स में नहीं ले कर आएंगे. पार्टी ने उनके निधन के बाद उनके बेटे को राज्य कार्यकारिणी में मेंबर ले लिया, सेंटर में एमएसएमई कमिटी में भी डायरेक्टर बनाया है. आगे का भी पार्टी ही देखेगी. बीजेपी नेता ने कहा कि पार्टी हर विधानसभा क्षेत्र में सर्वे कराती है. अगर सर्वे में उनका नाम आया तो पार्टी देखेगी.

Check Also

एसकेएम की पांच सदस्यीय समिति की हो सकती हैं शाह और तोमर से मुलाकात

नई दिल्ली (New Delhi) . संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) की पांच सदस्यीय समिति बुधवार (Wednesday) …